ON THE SPOT बसपा विधायक का फैसला, आटे में नमक बराबर रिश्वत तो चलत है, मगर पीएम आवास योजना में 10 हजार रुपए लेना ठीक नहीं

दमोह,गणेश अग्रवाल। दमोह जिले के पथरिया से बीएसपी की चर्चित विधायक रामबाई सिह के आन दा स्पॉट फैसले का एक और वीडियो सामने आया है, जब रामबाई भ्रष्टाचार के खिलाफ तकरीर दे रही हैं और गरीबो के साथ न्याय कर रही हैं। ये वीडियो उनकी ही विधानसभा क्षेत्र के झागर गाँव का है जहां रामबाई की अदालत में फैसला सुनाया गया। दरअसल रामबाई सिह झागर गांव के दौरे पर गई थी जहां ग्रामीणों को बुलाकर उन्होंने बातचीत की तो इलाके के पंचायत सचिव नारायण चौबे और रोजगार सहायक निरंजन तिवारी द्वारा भ्रष्टाचार की शिकायतें सामने आई। फिर क्या था विधायक रामबाई ने आनन फानन में गांव में ही दरबार लगाया और फिर पंचायत सचिव और रोजगार सहायक को तलब किया गया। गरीब ग्रामीणों ने इन दोनों सरकारी कर्मचारियों के सामने ही विधायक रामबाई को अपनी आपबीती बताई जिसमे कहा गया कि ये कर्मचारी पीएम आवास की कुटीर और रोजगार कार्ड के लिए किसी से पांच किसी से छह हजार वसूल रहे हैं।

Shivpuri News :अवैध वसूली का वीडियो वायरल करने पर आधार कार्ड सेंटर संचालक ने की ये हरकत, मामला दर्ज

ये सुनकर रामबाई को गुस्सा आया और वो साफ कहती रही कि गरीबो के साथ अत्याचार सहन नही करेंगी। हालांकि वीडियो में रामबाई ये भी कहती नज़र आ रही हैं कि आटे में नमक के बराबर भ्र्ष्टाचार चल जाएगा मतलब काम के नाम पर हजार पांच सौ रुपये लिए जा सकते हैं लेकिन मौटी रकम लेना जायज नही है। रामबाई ने आन दा स्पॉट फैसला सुनाते हुए पंचायत सचिव और रोजगार सहायक को गरीबों में पैसे लौटाने को कहा और उन्होंने फरमान को माना भी। रामबाई का ये रूप पहली बार नज़र नही आया बल्कि अक्सर उनके ऐसे काम मीडिया की सुर्खियों में रहते हैं।