दमोह, गणेश अग्रवाल

जिले के शीश पुर पट्टी गांव के लोग शव जलाने के लिए खुले आसमान के नीचे मशक्कत करते हैं। दरअसल गांव में टीन शेड नहीं है ऐसे हालात में बारिश के मौसम में यहां के लोगों को पन्नी डालकर शव जलाना पड़ता है।

दमोह जिले में शुक्रवार को पूरे दिन बारिश का दौर शुरू रहने के चलते इस गांव के लोगों को समस्याओं का सामना करना पड़  रहा है। गांव में एक व्यक्ति की मौत हो जाने के बाद अंतिम संस्कार करने के लिए जब लोग श्मशान घाट पहुंचे, तो वहां पर भी पानी गिर रहा था। ऐसे हालात में लोगों को प्लास्टिक की पन्नी ऊपर डाल कर अंतिम संस्कार करना पड़ा।

इस अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए पहुंचे एक जागरूक व्यक्ति द्वारा जब यहां का वीडियो बनाया गया, तो लोग कैमरे पर बोलने से बचते नजर आए। लेकिन ग्रामीणलोग टीन शेड की मांग करने के लिए प्रशासनिक लोगों से मिलकर शिकायत करने की बात जरूर करते दिखे। लेकिन इसके बाद भी समस्या का समाधान नहीं होने से लोगों को एक बार फिर गांव में मृत्यु होने पर भारी बारिश में, खुले आसमान के नीचे प्लास्टिक की पन्नी के सहारे टीन शेड के अभाव में अंतिम संस्कार करना पड़ा.