इन विधायकों ने की कमलनाथ से मुलाकात,कांग्रेस से साथ रहने की बात दोहराई

दमोह/गणेश अग्रवाल

संसदीय क्षेत्र की सबसे महत्वपूर्ण दमोह विधानसभा के कांग्रेस के विधायक राहुल सिंह लोधी और बंडा विधानसभा के विधायक तरवर सिंह लोधी के भाजपा में जाने की अटकलें लगातार लगाई जा रही है। ये चर्चा तभी से जोरों पर है जब से दमोह संसदीय क्षेत्र के ही बड़ा मलहरा से विधायक रहे प्रद्नयुम्न सिंह लोधी कांग्रेस का हाथ छोड़कर भारतीय जनता पार्टी के साथ हो लिए हैं।

हालांकि राहुल सिंह लोधी का कहना है कि उनकी आत्मा कांग्रेस में बसती है। साल 2003 में जब तत्कालीन मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह दमोह आए थे, उसी समय उन्होंने कांग्रेस का दामन थामा था और वह तब से लेकर अब तक कांग्रेस के ही साथ हैं। कांग्रेस ने ही उन्हें दमोह विधानसभा में अपना प्रत्याशी बनाया और उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के गढ़ में सेंध लगाते हुए यह सीट भाजपा से छीन कर कांग्रेस के पाले में डाली थी। राहुल सिंह लोधी ने कहा है कि उनको कांग्रेस पार्टी ने विधायक बनाया है और वे हमेशा कांग्रेस के साथ ही रहेंगे। इसके साथ ही उन्होंने बंडा विधायक के सवाल पर भी यह कहा था कि मैं और बंडा विधायक दोनों हमेशा कांग्रेस के साथ रहेंगे भाजपा में कभी नहीं जाएंगे। राहुल सिंह ने यह भी कहा था कि उनका सम्मान कोई खरीद नहीं सकता।

लगातार अटकलों के बीच मंगलवार को दोनों विधायक पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से मिलने उनके निवास पर पहुंचे। जहां पर उन्होंने अपनी आस्था कांग्रेस में होने की बात कही। इसी के साथ आगामी दिनों में होने वाले उपचुनाव पर भी दोनों विधायकों के द्वारा चर्चा की गई।