एमपी की बेरहम पुलिस, लेडी एसआई ने बुजुर्ग महिला को सरेआम पीटा

viral-video-of-lady-si-who-beaten-lady-in-damoh-madhy-pradesh

दमोह।

इन दिनों सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें एक महिला एसआई एक ग्रामीण महिला की बालों से पकड़कर पिटाई करती हुई नजर आ रही है।वायरल हो रहा वीडियो दमोह जिले के तेजगढ़ थाना की इमलिया चौकी में महिला सब इंस्पेक्टर सविता रजक का है। वीडियो में दिखाया गया है कि सीसी रोड निर्माण में लापरवाही करने का विरोध करने वाली महिला को एस सविता रजक बेरहमी से पीट रहीं हैं।वही इसकी शिकायक स्थानीय विधायक के पास भी पहुंची है और उन्होंने अधिकारियों को कडी कार्रवाई करने के निर्देश दिए है।

बताया जा रहा है कि लोधी जाति की महिला ग्राम पंचायत अर्थखेड़ा की है और वह घर के सामने बनने वाली शासकीय सड़क बनने का विरोध कर रही थी। सड़क न बनने देने की शिकायत ग्राम पंचायत की ओर से पुलिस को भी दी गई थी।जब इस बात की सूचना एसपी सविता को लगी तो वह गांव पहुंची  इस बीच महिला ने पत्थर फेंकना चालू कर दिए, मगर जब महिला नहीं मानी तो सविता  ने उसकी बालों से पकड़कर बुरी तरह पिटाई कर दी। पिटाई से महिला गंभीर रूप से घायल हो गई, जिसे उपचार के लिए भर्ती कराया गया है। फिलहाल मामले में कोई शिकायत की जानकारी नहीं मिली है।हैरानी की बात तो ये है कि जब एसआई महिला को पीट रही थी तब आसपास खड़े लोग मूक दर्शक बने रहे और वीडियो बनाते रहे।जो कि अब तेजी से वायरल हो रहा है।

वीडियो के वायरल होने पर एसआई ने दी सफाई

इस दौरान वही खड़े लोगों मे से किसी ने इसका वीडियो बना लिया जो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।वीडियो के वायरल होते ही पुलिस महकमे में हडकंप मचा हुआ है, कोई भी अधिकारी कुछ बोलने को तैयार नही है। लेकिन इस मामले में एसआई सविता रजक का कहना है कि महिला सड़क नहीं बनने दे रही थी। मैंने उसे हटाया तो उसने मुझे भी पत्थर मारने का प्रयास किया, यदि मैं उसे नहीं र���कती तो गंभीर घटना हो जाती, क्योंकि आसपास बहुत से लोग थे। 

विधायक के पास पहुंची शिकायत

खबर है कि इसकी शिकायत स्थानीय विधायक राहुल सिंह के कार्यालय भी पहुंची है,जिसके बाद उन्होंने  पुलिस अधिकारियों से कार्रवाई करने को कहा है। विधायक राहुल सिंह ने बताया इस संबंध में जब हमने पुलिस के आला अधिकारियों से बात की है मामले की उचत कार्रवाई होगी। वहीं, अतिरक्त पुलिस पुलिस अधीक्षक विवेक लाल ने कहा- प्रतिवेदन मिलने पर वे मामले की जांच करेंगे और आगे की कार्यवाही करेंगे।