दतिया, सत्येन्द्र रावत| पुलिस अधीक्षक अमन सिंह राठौर द्वारा विधानसभा उपचुनाव को देखते हुए चलाये जा रहे अपराधों की रोकथाम एवं अपराधियों व वारंटियों के धरपकड़ अभियान के तहत थाना प्रभारी बड़ौनी रविन्द्र शर्मा तथा धीरपुरा थाना प्रभारी यादवेंद्र सिंह गुर्जर की सयुंक्त कार्यवाही में हत्या एवं कई लूटों की वारदातों को अंजाम देने वाला 10 हजार का फरारी मोस्ट वांटेड अपराधी अरविंद पुत्र सीताराम यादव उम्र 40 वर्ष निवासी निचरोली दतिया को गिरफ्तार किया गया है।

धीरपुरा थाना प्रभारी यादवेंद्र सिंह गुर्जर ने बताया कि मुखबीर से सूचना प्राप्त हुई कि पंचम कवि की टोरिया के पास कुछ बदमाश संगीन वारदात को अंजाम देने की फिराक में है। सूचना प्राप्त होते ही पुलिस अधीक्षक द्वारा तुरंत एक्शन लेते हुए टीम गठित कर आपरेशन चलाया गया। और मुखबिर के बताए स्थान पर दबिश देकर 10 हजार के इनामी बदमाश अरविंद यादव को गिरफ्तार किया। शेष बदमाश जंगल का फायदा उठाकर भाग निकले। पुलिस बदमाशों की तलाश में जुटी। पकड़े गए आरोपी अरविंद ने पूछताछ में पूर्व में कई गई पुरानी वारदातों को अपने साथियों के साथ अंजाम देना स्वीकार किया है।

उक्त आरोपी ने 2017 में प्राइवेट फारेस्ट गार्ड पंचम सिंह निवासी बाजनी को पुरानी रंजिश पर जान से मार डालना स्वीकार किया। वर्ष 2018 में आरोपी ने अपने एक साथी मुकीम खान के साथ मिलकर व्यापारी मोतीलाल सचदेवा के साथ पंचशील नगर में 3 लाख 90 हजार की लूट करना स्वीकार किया। वर्ष 2018 में ही अपने एक साथी कमलेश यादव के साथ मिलकर किसन देवी नामक महिला को गंभीर घायल करके उससे 20 हजार रुपये व एक मंगलसूत्र लूटना स्वीकार किया। 19 अगस्त 2020 में दो अन्य साथियों जावेद ईरानी उर्फ फिरोज तथा सुमित यादव के साथ मिलकर सर्किट हाउस के पास शहर के व्यापारी राजेश मोटवानी से 1 लाख 32 हजार की लूट करना स्वीकार किया।

आरोपी द्वारा अपने साथियों के साथ मिलकर एक अंधे कत्ल और तीन लूट की संगीन वारदातों को अंजाम देना स्वीकार किया है। फिलहाल आरोपी से पूछताछ जारी है। इस कारवाही में थाना प्रभारी बडोनी रविन्द्र शर्मा, थाना प्रभारी धीरपुरा यादवेंद्र सिंह गुर्जर के अलावा सहायक उपनिरीक्षक भान सिंह, प्रधान आरक्षक राम सिंह, आरक्षक सतेंद्र सिकरवार, योगेंद्र सिंह, महेंद्र शर्मा, शिवराम सिंह, रोहित सिंह, दिलीप प्रधान की महत्वपूर्ण भूमिका रही।