ड्यूटी में लापरवाही पर डाॅक्टरों के खिलाफ की जायेगी कार्रवाई – कमिश्नर

दतिया,सत्येन्द्र सिंह रावत 
जिले के दौरे पर ग्वालियर संभाग के संभागायुक्त एमबी ओझा एवं आईजी चंबल अविनाश शर्मा ने मेडीकल काॅलेज के सभाकक्ष में कोविड-19 के संबंध में मेडीकल काॅलेज एवं जिला चिकित्सालय की व्यवस्थाओं के संबंध में समीक्षा बैठक ली। बैठक में कलेक्टर रोहित सिंह, पुलिस अधीक्षक अमन सिंह राठौर, अपर कलेक्टर विवेक रघुवंशी, डीएफओ श्रीमती प्रियांशी सिंह राठौर, एसडीएम दतिया अशोक सिंह चैहान, अतिरिक्त सीईओ जिला पंचायत धनंजय मिश्रा, तहसीलदार नितेश भार्गव, मेडीकल काॅलेज डीन डाॅ. राजेश गौर, सीएमएचओ डाॅ. एसएन उदयपुरिया, सिविल सर्जन डाॅ. डीके गुप्ता सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी व डाॅक्टर्स उपिस्थत रहे।

संभागायुक्त श्री ओझा ने निर्देश दिए कि कोरोना-19 वायरस एक आपातकालीन आपदा है इसमें सभी डाॅक्टरों एवं प्रशासनिक अधिकारियों को अपनी पूरी जिम्मेदारी और निष्ठा से कार्य करना है। उन्हांेने कहा कि ड्यूटी में लापरवाही बरतने पर डाॅक्टरों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी। संभागायुक्त श्री ओझा ने मेडीकल काॅलेज के डीन एवं जिला चिकित्सालय के सीएमएचओ एवं सिविल सर्जन से सार्थक एप एवं माईक्रो बाॅयलाॅजी एवं एटोनाॅमी में पदस्थ डाॅक्टरों की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि किसी भी स्थिति में कोरोना वायरस के मरीज रैफर न करें, उनका हर सुविधा सहित यहीं पर इलाज किया जाये।

संभागायुक्त ने जिला चिकित्सालय में जो सुविधायें अव्यवस्थित है उन्हें तत्काल दुरूस्त की जाये। जिससे मरीज को किसी भी प्रकार की कोई परेशानी न हो। उन्होंने कहा कि जो डाॅक्टर वाहर से अपडाउन करते है उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करें एवं दो-दो माह की वेतन भी रोकी जाये। उन्होंने जिले के प्रशासनिक अधिकारियों को सभी व्यवस्थायें दुरूस्त करने एवं आपदा, विपत्ति आने पर हर प्रकार से तैयार रहने के निर्देश दिए।