किराया मांगने के लिये बनाया दबाव तो होगी कार्रवाई, प्रशासन ने किराएदारों को दी राहत

दतिया/सत्येन्द्र सिंह रावत

कोरोना वायरस को लेकर लगे लॉक डाउन को दो महीने से ज्यादा गुजर गए और अभी कब तक लॉक डाउन रहना है कुछ नहीं कहा जा सकता है। ऐसे समय में किराए से रह रहे परिवारों और किराए से दुकान चला रहे लोगों के सामने किराया देने का संकट खड़ा हो गया है। दो महीने से हाथ पर हाथ धरे बैठे लोगों को कई मकान मालिक घर से बेघर कर रहे हैं। कई दुकानों को हाल ही में दुकान खोलने की अनुमति मिली है, नाई की दुकानों को सबसे अंत मे खुलने की अनुमति मिली और इसे महज एक सप्ताह भी नहीं गुजरा है। अब ऐसे में सवाल ये है कि वो पहले अपनी उधारी चुकाएं या फिर किराया भरें।

इस स्थिति को लेकर अब इन्हें जिला प्रशासन से ही उम्मीद है। दतिया एसडीएम अशोक सिंह चौहान ने कहा है कि बताते हैं कि अगर कोई मकान अथवा दुकान मालिक किराया मांगने के लिए किराएदार पर दबाव बनाता है तो किरायेदार अपने क्षेत्र के संबंधित थाने में या फिर एसडीएम को आवेदन दे सकता है। आवेदन के बाद संबंधित मकान और दुकान मालिक पर कार्यवाही होगी। अगर मालिक किराया ना देने पर दुकान या मकान खाली करवाने के लिए कहता है तो भी कार्यवाही होगी। प्रशासन का कहना है कि संकट की घड़ी में अच्छे नागरिक की तरह हमें एक दूसरे की मदद करना चाहिए न कि आर्थिक संकट से गुजर रहे लोगों पर दबाव बनाना चाहिए।