गृह मंत्री

दतिया, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में 1 जून से अनलॉक (Unlock 2021) की प्रक्रिया शुरु हो गई है, हालांकि केसों को देखते हुए अब भी कई जिलों में पाबंदियां है, लेकिन हालातों को देखते हुए एक के बाद एक जिलों में छूट भी दी जा रही है। भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर के बाद अब दतिया DCMC की बैठक में कर्फ्यू में ढील देने का फैसला लिया गया है।मध्य प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कोरोना की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए दतिया जिले में सभी आवश्यक इंतजाम करने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़े.. Bank Holiday 2021: 12 से 30 जून के बीच 8 दिन बंद रहेंगे बैंक, जल्द निपटा लें काम

दरअसल, आज शनिवार को गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Dr. Narottam Mishra) दतिया मेडिकल कॉलेज(Datia Medical College)  के सभागार में आयोजित डिस्ट्रिक्ट क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी की अध्यक्षता कर रहे थे। बैठक में जिले में कोरोना के प्रकरणों की कमी को देखते हुए सदस्यों के सुझाव पर आगामी एक सप्ताह तक प्रातः 6 बजे से सायं 7 बजे तक कोविड गाईड लाईन का पूर्ण रूप से पालन कराते हुए बाजार खोलने, रात्रिकालीन कोरोना कर्फ्यू को यथावत रखने पर सहमति व्यक्त की गई।

गृह मंत्री डॉ. मिश्रा ने जिले में कोरोना के संक्रमण की स्थिति, भर्ती मरीजों बेड्स की जानकारी, ऑक्सीजन की स्थिति आदि की समीक्षा करते हुए कोरोना की संभावित तीसरी लहर के लिये अभी से सभी तैयारियां शुरू करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि लोगों को मास्क लगाने एवं समझाईश देने हेतु अभियान भी संचालित किया जाए।वही दतिया कलेक्टर  (Datia Collector) संजय कुमार ने संभावित कोरोना की तीसरी लहर (Coronavirus Third Wave) के लिए की जा रही व्यवस्थाओं और उपचार की तैयारियों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी।

यह भी पढ़े… मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने चेताया- अगर ऐसा किया तो आ जायेगी तीसरी लहर

गृह मंत्री  डॉ. मिश्रा ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण संजीवनी के रूप में कार्य करता है। सभी का टीकाकरण हर हाल में कराना होगा। टीकाकरण (vaccination) सम्बंधित भ्रांतियों और अफवाहों को दूर करने के लिए जागरूकता अभियान चलाए, जिससे आमजन टीकाकरण केन्द्र पर जाकर कोरोना का टीका लगवाए। कोरोना की प्रथम लहर के दौरान लॉकडाउन एवं द्धितीय लहर के दौरान पुलिस विभाग और स्वास्थ्य विभाग द्वारा कर्त्तव्य निर्वहन करते हुए जो सेवा की गई है वह भी एक सराहनीय एवं अनुकरणीय है।