दतिया।

शनिवार को जिला कलेक्टर बीएस जामोद नपा अध्यक्ष पर उस वक्त भड़क गए जब उन्होंने पीतांबरा शक्तिपीठ के पास गंदगी देखी। कलेक्टर ने पहले तो नपाध्यक्ष को फटकार लगाई और फिर भंडारे के बाद लोगों द्वारा सड़कों पर फेंकी गई पत्तलें भी उठवा डाली।इस दौरान उन्होंने छह दुकानों पर भी कार्रवाई करते हुए दो दो हजार रुपए जुर्माना वसूला।

दरअसल, बीते कई दिनों से शहर में  प्रशासन द्वारा  सफाई अभियान चलाया जा रहा है।कलेक्टर खुद प्रशासनिक अधिकारियों के साथ शहर के वार्ड-वार्ड जाकर सफाई कर रहे है।दुकानदारों द्वारा भी कचरा करने पर कार्रवाई की जा रही है। इसी कड़ी में वे शनिवार को  पीतांबरा शक्तिपीठ पहुंचे यहां उन्होंने भंडारे के जूठे पत्तल और दोना देखकर नाराजगी जताई। चुंकी नपा अध्यक्ष सुभाष अग्रवाल ही भंडारे में लोगों को भोजन करा रहे थे। पास में ही लोग सड़क पर पत्तलें फेंक रहे थे।इस पर कलेक्टर ने नगर पालिका अध्यक्ष को फटकार लगाई और कहा कि अगर आप ही साफ-सफाई नहीं रखेंगे तो बाकि लोग क्या करेंगे।इसके बाद कलेक्टर ने अग्रवाल से ही वहां की सारी पत्तलें उठवाईं। पास में ही भगवानदास रायकवार व विक्की विश्वकर्मा ने भी भंडारा लगा रखा था।उन्हें भी सफाई रखने के खास निर्देश दिए गए।

वही पहली बार सड़क पर गंदगी फैलाने वाले छह दुकानदारों से मौके पर ही 2-2 हजार रुपए जुर्माना वसूला गया।इस दौरान एक भंडारा आयोजक ने गंदगी साफ करने को लेकर कलेक्टर से बहस की तो कलेक्टर ने आयोजक के खिलाफ धारा 151 के तहत कार्रवाई कर दी।इसके बाद पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर हवालात भेज दिया। हालांकि शाम को उन्हें जमानत दे दी गई।