सोनागिर मंदिर में हुई डकैती के विरोध में जैन संत ने त्याग दिया अन्न जल

जैन समाज में रोष व्याप्त है।

दतिया,सत्येन्द्र रावत। मध्य प्रदेश के दतिया (datia) जिले में सिद्धक्षेत्र सोनागिर के मंदिर में हुई डकैती के विरोध शिवपुरी में चतुरमास कर रहे जैन संत दर्शित सागर जी महाराज ने चोरी के विरोध में अन्न त्याग दिया है।

यह भी पढ़े…यहां पढ़िए 14 सितंबर की मध्य प्रदेश की सभी बड़ी खबरें, केवल एक क्लिक पर

 

उनका कहना है की जब तक पुलिस चोरो को नहीं पकड़ती है, तब तक वे अन्न ग्रहण नहीं करेंगे। उनके इस प्रण को लेकर जैन समाज में रोष व्याप्त है। उल्लेखनीय है कि चार दिन के बाद भी चोरों का नहीं लगा सुराग दिगंबर जैन सिद्ध तीर्थ क्षेत्र सोनागिर में भगवान चंद्रप्रभु के मंदिर पर रात्रि मे ढाई से 4 बजे के बीच कुछ कुछ अज्ञात बदमाशों ने बाउंड्री से मंदिर में प्रवेश कर दानपेटी में रखे पैसे और कुछ अन्य समान चोरी कर ले गए। वहीं मंदिर प्रांगण में मौजूद गार्डो के साथ बदमाशो ने मारपीट की है। जिस कारण गार्ड घायल हुए है।

सोनागिर मंदिर में हुई डकैती के विरोध में जैन संत ने त्याग दिया अन्न जल

यह भी पढ़े…पोषण आहार मामले में सीएम शिवराज ने खुलकर रखी अपनी बात, विपक्ष ने किया हंगामा

शनिवार सुबह घटना की जानकारी मिलते ही एडीजी राजेश चावला मोके पर पहुंचे। वहीं, दतिया एसपी अमन सिंह राठौड़ ने मामले में जल्द खुलासा करने की बात कही है थी लेकिन अभी तक पुलिस को कोई सुराग नहीं मिला है। अभी तक जो जानकारी मिली कि पुलिस चोरों को पकड़ने प्रयास कर रही है।

सोनागिर मंदिर में लूट करने वालों पर पुलिस द्वारा प्रत्येक आरोपी पर 30-30 हजार रु का इनाम घोषित किया गया है। और सूचना देने वाले का नाम गुप्त रखा जायेगा।

सोनागिर मंदिर में हुई डकैती के विरोध में जैन संत ने त्याग दिया अन्न जल