रेत का अवैध उत्खनन करते तीन ट्रैक्टर पकड़े

ट्रैक्टर चालक व रेत माफिया पुलिस को देख आनन-फानन में फरार हो गए।

सेवढा,राहुल ठाकुर। मानसून सत्र प्रारंभ होने के बाद एनजीटी के द्वारा रेत के अवैध खनन (illegal excavation of sand) को लेकर रोक लगा दी गई थी लेकिन स्थानीय शासन की मिली जुली जुगलबंदी के कारण यह रोक सेबड़ा तहसील में कहीं भी देखने को नहीं मिल रही है लोकल रेत माफियाओं के द्वारा शाम होते ही रेत के कारोबारियों के द्वारा वन विभाग व राजस्व विभाग की सीमाओं में अवैध उत्खनन प्रारंभ कर दिया जाता है वहीं अस्वीकृत रेत खदानों पर लोकल रेत माफिया प्रशासन की रेकी कर रेत के इस काले कारोबार को अंजाम देते हैं।

यह भी पढ़े…Name Astrology : ससुराल वालों का भाग्योदय कर देती है इन 4 अक्षरों से शुरू होने वाले नाम की लड़कियां

उक्त खबर मीडिया के द्वारा प्रकाशित करने के बाद शासन प्रशासन के द्वारा संज्ञान में लिया गया और खाना पूर्ति करते हुए मंगलवार की सुबह मुखबिर की सूचना पर सेवड़ा पुलिस के द्वारा सिंध नदी स्थित कन्दरपुरा घाट पर वन विभाग की सीमा के पास तीन ट्रैक्टर रेत का खनन कर भरते हुए पकड़े गए मौके पर ट्रैक्टर चालक व रेत माफिया पुलिस को देख आनन-फानन में फरार हो गए।

रेत का अवैध उत्खनन करते तीन ट्रैक्टर पकड़े

यह भी पढ़े…Motorola Razr 2022 इस दिन होगा लॉन्च, पहली बार मिलेगा किसी फोल्डेबल स्मार्टफोन में ऐसा प्रोसेसर, जानें

वहीं पुलिस को कड़ी मशक्कत के बाद तीनों ट्रैक्टरों को पुलिस आरक्षकों की सहायता से सेवड़ा थाने तक लाया गया खबर लिखे जाने तक तीनों ट्रैक्टरों पर अभी तक कोई कार्यवाही प्रस्तावित नही की गई देखना यह है कि एनजीटी की रोक के बाद व बिना कोई स्वीकृत खदान होने बाबजूद इन रेत के वाहनों पर क्या कार्यवाही की जाती है यह विषय आमजन में चर्चा का विषय बना हुआ है।