कार्यपालन यंत्री को क्लर्क के साथ 35,000 रुपये की रिश्वत लेते लोकायुक्त ने पकड़ा

गौरतलब है कि ग्वालियर लोकायुक्त पुलिस ने कल बुधवार को एक रोजगार सहायक नरेंद्र सोलंकी को 01 लाख रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा था। 

दतिया, डेस्क रिपोर्ट।  ग्वालियर लोकायुक्त पुलिस ने लगातार दूसरे दिन एक भ्रष्ट सरकारी कर्मचारी को रिश्वत (Bribe) लेते रंगे हाथ पकड़ा है। आरोपी जल संसाधन विभाग का कार्यपालन यंत्री (Executive engineer arrested for taking bribe) हैं। ग्वालियर लोकायुक्त पुलिस (Gwalior Lokayukta Police) ने उसे उसके क्लर्क के साथ 35,000 रुपये की रिश्वत लेते गिरफ्तार (clerk arrested for taking bribe) किया है।

जानकारी के अनुसार भिंड जिले के गोहद में रहने वाले आशुतोष श्रीवास्तव बिजली की ठेकेदारी का काम करते हैं उन्होंने लोकायुक्त एसपी ग्वालियर से शिकायत की थी कि उसने मड़ीखेड़ा डेम दतिया में बिजली का काम किया था उसके बिल के भुगतान के बदले वहां पदस्थ कार्यपालन यंत्री प्रेम कुमार पाठक 85,000 रुपये की रिश्वत मांग रहे हैं।

ये भी पढ़ें – MP School : 5वीं और 8वीं का परीक्षा परिणाम इस दिन होगा घोषित, ऐसे देखें रिजल्ट

शिकायत के बाद लोकायुक्त पुलिस ग्वालियर ने प्लानिंग की और शिकायतकर्ता  बिजली ठेकेदार को पहली किश्त 35,000 रुपये लेकर जल संसाधन विभाग दतिया भेजा। जैसे ही फरियादी आशुतोष श्रीवास्तव कार्यपालन यंत्री प्रेम कुमार पाठक के कार्यालय लाइट मशीनरी डिवीजन कार्यालय राजघाट कॉलोनी दतिया पहुंचा और उसने कार्यपालन यंत्री के क्लर्क रामसिया को रिश्वत की राशि 35,000 रुपये दी, बाहर पहले से तैयार लोकायुक्त की टीम ने उसे रंगे हाथ पकड़ लिया।

ये भी पढ़ें – MP हाई कोर्ट का बड़ा फैसला, आरक्षक पोस्टिंग को लेकर DGP को दिये निर्देश

गौरतलब है कि ग्वालियर लोकायुक्त पुलिस ने कल बुधवार को शिवपुरी जिले की नरवर तहसील की ग्राम पंचायत सिरला के रोजगार सहायक नरेंद्र सोलंकी को 01 लाख रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा था।  रोजगार सहायक निर्माण कार्य के बिलों के भुगतान करने के बदले रिश्वत ले रहा था।