अधीक्षक पर भड़की नर्से, मारपीट, थाने पहुंचा मामला, TI बोले-छेड़छाड़ का वीडियो हो तो लाओ

nurse-beat-the-superintendent-of-medical-college-after-absence-datia-madhypradesh

दतिया।

मध्यप्रदेश के दतिया के जिला अस्पताल की ओपीडी में उस वक्त हंगामा हो गया जब स्टाफ नर्स के साथ आए लोगों ने मेडिकल काॅलेज के अधीक्षक को पीट दिया। मामला इतना बढ़ा कि सारे डॉक्टर डीन डॉ. के साथ सीधा कोतवाली थाने पहुंच गए और शिकायत की।वही नर्सों ने उनसे पहले थाने पहुंची नर्सों ने अधीक्षक पर अभद्रता करने का आरोप लगा दिया।दोनों के विवाद को देखते हुए टीआई ने नर्सों को यह कहकर आवेदन लौटा दिया कि छेड़छाड़ का वीडियो हो तो लाइए। जिस पर वे आग बबूला हो गईं और  सीधा एसपी से मिलने पहुंची। एसपी ने आश्वासन दिया कि आपके साथ भी न्याय होगा। घटना सीसीटीवी में कैद हुई है, फूटेज के आधार पर जांच की बात कही जा रही है।

दरअसल, मामला गुरुवार सुबह 11 -12  बजे के बीच का है।स्टॉफ नर्स रोजमर्रा की तरह ड्यूटी पर पहुंची थी लेकिन जब उन्हें पता चला कि  मेडिकल काॅलेज के अधीक्षक डाॅ अर्जुन सिंह ने उपस्थिति रजिस्टर में स्टाफ नर्स की गैरहाजिरी लगा दी है तो वे भड़क गई और सीधा अधीक्षक से मिलने पहुंचे जहां दोनों के बीच जमकर बहस हुई। मामला इतना बढ़ा कि नर्से भड़क गई और साथ आए लोगों के साथ अधीक्षक की पिटाई कर दी। जब यह बात डॉक्टरों को पता चली वे अपने-अपने चैंबर से बाहर निकले और धरने पर जाकर बैठ गए। 

इसके बाद मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. राजेश गौर के साथ डॉक्टराें ने बैठक की और सीधे कोतवाली पहुंच गए। लेकिन उनसे पहले नर्सें पहुंच गईं और आवेदन देकर अधीक्षक पर अभद्रता करने का आरोप लगा दिया। कोतवाली पुलिस ने अधीक्षक की रिपोर्ट पर नर्स व उसके परिजन के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया।  पुलिस ने डॉक्टर्स के आवेदन पर तत्काल एफआईआर काटकर दे दी। लेकिन नर्सिंग स्टाफ दोपहर दो बजे तक कोतवाली में एफआईआर होने की प्रतीक्षा में बैठा रहा। नर्सों ने टीआई शेर सिंह से एफआईआर न होने का कारण पूछा तो उन्होंने नर्सों से कहा कि अगर आपके पास वीडियो हो तो दे दो, हम अभी एफआईआर कर देंगे। जिस पर नर्सें आक्रोशित हो गईं और उन्होंने कहा कि अगर कोई हमारे साथ रेप करता है तो हम क्या पहले वीडियो बनाएंगे? इसके बाद टीआई कोतवाली से चले गए। टीआई की यह बात सुनकर नर्सें आग बबूला हो गईं और एसपी डी. कल्याण चक्रवर्ती से मिलने पहुंच गई। एसपी ने आश्वासन दिया कि आपके साथ भी न्याय होगा। 

डॉ. सिंह ड्यूटी में बहुत ज्यादा पक्षपात कर रहे हैं। वह ओटी में ड्यूटी कर रहीं हैं। बावजूद इसके डॉ. सिंह बगैर किसी कारण के अनुपस्थिति लगा रहे हैं। आज जब उन्होंने डॉ. सिंह से अनुपस्थिति लगाने का कारण पूछा तो उन्होंने हाथ पकड़ कर अभद्रता पूर्ण भाषा का प्रयोग किया। नर्स ने डॉ. सिंह के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। 

नर्स स्टॉफ, जिला अस्पताल

स्टाफ नर्स के हस्ताक्षर नहीं होने पर उन्होंने नर्स की अनुपस्थिति लगा दी। कुछ देर बाद ही स्टाफ नर्स वहां पहुंची और अनुपस्थिति देखकर विवाद करने लगी। इसके बाद नर्स ने कुछ लोगों को बुलाकर चैंबर में ही मारपीट कर दी। इसके बाद बाहर भी उन्हें पीटा। 

डाॅ अर्जुन सिंह, अधीक्षक, मेडिकल कॉलेज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here