sewdha

सेवढा, राहुल ठाकुर। सेवढा (sewdha) अनुभाग रेत के अवैध खनन के नाम से जाना जाता है और वहीं स्थानीय प्रशासन (administration) की जुगलबंदी से रेत के ठेकेदारों के द्वारा अवैध खनन (illegal mining) व परिवहन को अंजाम दिया जाता है। सेवढ़ा अनुभाग में रेत (sand) की अवैध वसूली के नाम से बहुचर्चित थाना डीपार के सामने गुरुवार को लाइव कवरेज करने पर मीडिया टीम (media team) के कैमरे में अवैध वसूली की कुछ फोटो कैद की गई है।

यह भी पढ़ें… Tikamgarh: CMO की जूतों और डंडों से पिटाई, CCTV कैमरे में कैद हुई घटना

मामला सेवढ़ा अनुभाग के डीपार थाना क्षेत्र का है जहां पर मंगरोल चौकी के ठीक सामने ग्वालियर सेवढा रोड पर थाने की नवनिर्मित बिल्डिंग का निर्माण कार्य चल रहा था। वहीं कुर्सियों पर एक व्यक्ति मुँह बांधे हुए रेत से भरे डंपर और ट्रैक्टर का इंतजार कर रहा था जब टीम ने उस प्राइवेट व्यक्ति को देखा तो वह रेत से भरे डंपर व ट्रैक्टरों को रोककर उनसे वसूली करता हुआ दिखाई दिया जिसे मीडिया टीम के द्वारा कैमरे में कैद किया गया। उसी वक्त मीडिया टीम के द्वारा जब कवरेज किया जा रहा था तो उसकी नजर कैमरे पर पड़ी तब उसने ट्रैक्टर को पहले तो रोका और ट्रैक्टर चालक से आगे जाने की बात कह दी उसके बाद वो थाने के अंदर गया और मोटरसाइकिल उठाकर थाने से ग्वालियर रोड की तरफ रेत भरे ट्रैक्टर के पीछे वसूली के लिए चला गया। करीब 2 घंटे तक यही ड्रामा चलता रहा। थाने के अंदर प्रभारी वैभव गुप्ता भी बैठे हुए थे और संतरी पहरा भी लगा हुआ था इस तरह चल रही अवैध वसूली से यह प्रतीत होता है कि उक्त प्राइवेट व्यक्ति को थाना डीपार से ही संरक्षण प्राप्त है तभी तो इस तरह से दिनदहाड़े रेत के वाहनों से अवैध रूप से वसूली की जा रही है।

यह भी पढ़ें… सुप्रीम कोर्ट ऑक्सीजन ऑडिट टीम का Kejriwal पर बड़ा आरोप, कोरोना पीक के दौरान की धांधली

मामला सेवड़ा अनुभाग के डीपार थाने का है जहां पर प्रभारी वैभव गुप्ता के द्वारा रखे गए प्राइवेट व्यक्तियों के द्वारा दिनदहाड़े अवैध रूप से थाने के सामने ही रेत के वाहनों से वसूली की जा रही है जिसका खुला संरक्षण देश भक्ति जन सेवा का नारा लगाने वाली पुलिस के द्वारा दिया जा रहा है।