दतिया, सत्येन्द्र रावत। जैविक खेती को प्रमोट करने के लिए दि साइकिल मैन ऑफ इंडिया एग्रिकल्चर दतिया पहुंचे हैं। उन्होंने अपना सफर 9 अप्रैल 2019 में हरियाणा के उहुलआना गांव से शुरू किया। सफर के दौरान वे सिर्फ साइकिल पर सवार रहे। हरियाणा से दतिया तक वे 20 हजार 195 किलोमीटर साइकिल चला चुके हैं।

मीडिया से चर्चा करते हुए द साइकिल मैन ऑफ इंडिया एग्रिकल्चर ने बताया कि उनका असल नाम नीरज कुमार प्रजापति है। उन्हें यह नाम कृषि वैज्ञानिकों ने दिया है। नीरज अभी 24 साल के हैं। उन्होंने यह सफर इसलिए शुरू किया ताकि लोग जैविक खेती के महत्व से परिचित हो सकें। वे खुद खेती किसानी से जुड़े हुए हैं और कृषि वैज्ञानिकों की तरफ से किसानों के सलाहकार थे। दतिया पहुंचते ही सबसे पहले उन्होने रासजेवी ग्रुप से संपर्क किया। नीरज ने बताया कि वे देश के हर हिस्से में पहुंचना चाहते हैं। अभी उन्होंने एक लाख ग्यारह हजार एक सौ ग्यारह किलोमीटर साइकिल से सफर करने का लक्ष्य निर्धारित किया है।

रास्ते में मिलता है एक रुपये तक का सहयोग

उन्होंने बताया पूरा भारत उनके लिए परिवार है। उनके ऊपर हरियाण के लोगों की निगाहें टिकी हुई हैं। वे हर हाल में जैविक खेती को प्रमोट करना चाहते हैं। इस दौरान मिलने वाले किसानों की समस्या का भी वे समाधान करते हैं। नीरज ने एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि पेट भरने के लिए उन्हें रास्ते में मदद मिलती है। अभी तक खाने से संबंधित कोई परेशानी सामने नहीं आई। अन्य खर्च के लिए लोग एक रुपये देकर भी सहयोग कर रहे हैं।