एक्शन मोड़ में मुख्यमंत्री, जुआ, सट्टा व अवैध रेत उत्खनन चरम सीमा के बाहर

भू-माफियाओं, सटेरियां (सट्टा) जिले की पुलिस को खुले आम चुनौती दे रहे हैं। जाने क्या है पूरा मामला...

shivraj

दतिया, राहुल ठाकुर । यह बात सही है कि जो भी सरकार लंबे समय तक चलती है वह कई आरोपों (सट्टा में घिरती नजर आती है लेकिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दिए सख्त निर्देश पत्रकारों के द्वारा प्रसारित व प्रकाशित किए गए समाचार को ध्यान से पढ़ें और कार्रवाई करें। अगर कार्रवाई नहीं की गई तो मुख्यमंत्री खुद कार्रवाई करेंगे। यह बात मुख्यमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से व्यक्त की। जिसका एक वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर काफी हद तक वायरल हो रहा है। वहीं, इस वीडियो वायरल होने पर गलत कामों को अंजाम देने वाले अधिकारियों की बत्ती गुल होती नजर आ रही है क्योकि मध्यप्रदेश के कई जिलों में लो एंड आर्डर दूर दूर तक कंही नजर नही आ रहा है, जिससे नाराज सीएम शिवराज सिंह एक्शन मोड़ में आते नजर आ रहे है।

यह भी पढ़ें – सीएम शिवराज बोले- गड़बड़ होने पर दोषी तत्काल होंगे दंडित, 104 पर कार्रवाई, 26 बाहर   

बता दें कि गृहमंत्री के जिले दतिया स्थित सेवढा नगर में चल रहे जुआ सट्टा व अवैध रेत उत्खनन को लेकर कार्रवाई कर खाना पूर्ति की जा रही है जबकि सट्टा का कारोबार किसी से छुपा नहीं है। सरेआम सट्टा बाजारों में स्थित बिल्डिंगों में संचालित किया जा रहा है, जिसकी खबर स्थानीय पुलिस महकमें को होते हुए भी भृष्टाचारी के चलते कोई कार्रवाई होती नजर नहीं आ रही है। वहीं, रेत का अवैध उत्खनन कराने में तो सभी विभागों का योगदान होने के बाबजूद कोई कार्रवाई नहीं होती है क्योंकि अवैध उत्खनन से मोटी रकम अधिकारियों के बंगलों तक पहुँच रही है।

यह भी पढ़ें – कर्मचारियों के लिए गुड न्यूज, खाते में आएंगे 7000 से 9000 रुपए, मंत्रालय ने जारी किया आदेश, जल्द मिलेगा लाभ  

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भू-माफियाओं, तस्करों सहित सट्टा, जुआ माफियाओं पर नकेल कसने का फरमान जारी कर रखा है। जिसके तहत कुछ दिन पहले मंदसौर जिले के मल्हारगढ़ में सटोरियों के ठिकानों पर पुलिस प्रशासन द्वारा प्रशासनिक कार्रवाई भी की गई थी। जिसके तहत मामा का बुलडोजर भी चलाया गया था। इसके बावजूद भी प्रदेश में भू-माफियाओं, तस्करों का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा। बता दें कि भू-माफियाओं, सटेरियां जिले की पुलिस को खुले आम चुनौती दे रहे हैं। ऐसे में पुलिस पूरे मामले को संज्ञान में लेकर स्पेशल दल का गठन करें और मामले की छानबीन करें, जिससे पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लग सकती है।

यह भी पढ़ें – Indore : फर्जी आधार कार्ड से ले रहे OYO में एंट्री, बजरंगियों ने मुस्लिम युवक को रंगे हाथों पकड़ा 

सूत्रों से मिली जानकारी के मूताबिक, यहां पर प्रतिदिन लाखों रुपयों का कारोबार होता है जबकि अन्य क्षेत्रों से भी अवैध कमाई इस कारोबार से की जा रही है। जिसकी लालच में फंसकर कई लोग अपनी किस्मत आजमाते है और बाद में इसमें फंसकर अपना सबकुछ भी गवां बैठते है। इस अवैध कारोबार में लिप्त लोगों पर कोई कार्रवाई नहीं होती है और अवैध कारोबार में लिप्त गिरोह के लोगो के हौंसले बुलंद होते चले जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें – रीवा में दो दिवसीय चिकित्सा सम्मेलन का होगा आयोजन, इन विषयों पर होगी विस्तृत चर्चा