मंत्री जी बोले- “मैं सिंधिया का चपरासी, कलेक्टर एसपी हमारे रिश्तेदार नहीं, नौकर हैं”

दतिया, डेस्क रिपोर्ट। दतिया में ध्वजारोहण करने पहुंचे मध्य प्रदेश सरकार के लोक निर्माण विभाग राज्यमंत्री और जिला प्रभारी सुरेश धाकड़ ने खुद को ज्योतिरादित्य सिंधिया का सेवक और चपरासी बताया है। उन्होने कलेक्टर और एसपी को सरकार का नौकर बताते हुए लोगों से इन से ना डरने की बात भी कही है।

1 सितंबर से शुरू होगा महाविद्यालयों का नवीन सत्र, उच्च शिक्षा मंत्री ने बैठक में दिए अहम निर्देश

15 अगस्त को दतिया जिले में ध्वजारोहण करने के लिए पहुंचे मंत्री सुरेश धाकड़ के पास भांडेर क्षेत्र के कई व्यापारी पहुंचे थे। उनकी शिकायत थी कि उनको बिजली के बिल ज्यादा दे दिए गए हैं और चेकिंग के नाम पर विजिलेंस ने अनाप-शनाप राशि के बिल थमा दिए हैं। इस शिकायत पर मंत्री जी ने बिजली विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि इन सारे नोटिसो को फाड़ दें और किसी भी तरह से व्यापारियों को परेशान ना करें। उन्होंने व्यापारियों से भी कहा कि वह रीडिंग के आधार पर ही बिल पे करें। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि कलेक्टर और एसपी से ना डरें। यह हमारे नौकर हैं। सरकार के नौकर हैं। हम इनके नौकर नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि ना तो हमें कलेक्टर एसपी से रिश्तेदारी करनी है और ना संबंध बनाने हैं। जब व्यापारियों ने कहा कि बिजली विभाग के अधिकारियों ने उन्हें चोर कहा है तो मंत्री जी ने कहा कि यदि तुम ठान लोगे तो बिजली विभाग का एसई यहां नहीं रहेगा।

इसके बाद मंत्री जी ने कहा कि मैं सिंधिया का चपरासी हूं। सिंधिया मेरे आका है और सिंधिया का नाम मैं खराब नहीं होने दूंगा। उन्होंने व्यापारियों को विश्वास दिलाया कि वे जब तक यहां पर हैं वह उन्हें परेशान नहीं होने देंगे। उन्होंने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि वे उन्हें पूरी कार्रवाई करके रिपोर्ट भी करें कि व्यापारियों को किस तरह की राहत दी गई है।