दतिया कलेक्टर की इस पहल से कसेगी माफियाओं पर नकेल, किसानों को फायदा

कलेक्टर ने जारी आदेश दो टूक कहा है कि केवल जिले के किसानों का फसल उपार्जन हो।किसी भी स्थिति में उपार्जन केन्द्र प्रभारी द्वारा फर्जी तरीके से जिले के बाहर फसल खरीदी का कोई भी मामला या सदस्य मिलेगा तो तत्काल और उपार्जन प्रक्रिया समाप्त होने के बाद जांच की जाएगी और संबंधित उपार्जन केन्द्र प्रभारी के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज कर मुकादमा  दर्ज होगा,

Datia collector

दतिया, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के दतिया कलेक्टर (Datia collector)  संजय कुमार ने किसानो (Farmers) को राहत देने के लिए अनोखी पहल शुरु की है। कलेक्टर ने फसल उपार्जन (Crop Earnings) माफियाओं (Mafia) पर नकेल कसने के लिए राजस्व अधिकारियों (Revenue officials) को फसलों का सत्यापन करने के आदेश दिए है।

कलेक्टर (Datia Collector Sanjay Kumar) ने कहा है कि सरकारी खरीद केंद्रों पर किसानों की उपज राजस्व दल द्वारा सत्यापित किए जाने के बाद ही खरीदी जाए ।कलेक्टर संजय कुमार ने खरीदी केंद्र प्रभारियों को यह आदेश जारी किया है। जारी आदेश में कहा गया है कि धान, ज्वार, बाजरा के खरीदी केन्द्र प्रभारियों को निर्देशित किया जाता है कि आपके द्वारा एसएमएस (SMS) पर आ रहे किसानों की खरीदी की जा रही है, उनकी फसल सत्यापन राजस्व विभाग के दल से सत्यापन करने के उपरांत ही समर्थन मूल्य पर क्रय किए जाने की कार्यवाही की जाए।बिना सत्यापन के तौल ना किया जाए और अगर सत्यापन के लिए कोई उपलब्ध ना हो तो इसकी सूचना संबंधित तहसीलदार को दी जाए।

कलेक्टर ने जारी आदेश दो टूक कहा है कि केवल जिले के किसानों का फसल उपार्जन हो।किसी भी स्थिति में उपार्जन केन्द्र प्रभारी द्वारा फर्जी तरीके से जिले के बाहर फसल खरीदी का कोई भी मामला या सदस्य मिलेगा तो तत्काल और उपार्जन प्रक्रिया समाप्त होने के बाद जांच की जाएगी और संबंधित उपार्जन केन्द्र प्रभारी के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज कर मुकादमा  दर्ज होगा, इस कुचक्र में भागीदारी होने वाले का जेल जाना निश्चित है।

Datia Collector

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here