पुलिस के बारे मे भ्रामक ट्वीट, कमिश्नर ने कार्रवाई के दिए निर्देश

कमिश्नर ऑफ पुलिस भोपाल के ट्वीट मे लिखा गया है कि इस प्रकार की भ्रामक अफवाह फैलाने वाले पर वैधानिक कार्रवाई भी की जाएगी।

भोपाल डेस्क रिपोर्ट। सोशल मीडिया पर किए गए एक ट्वीट पर भोपाल पुलिस कार्रवाई करेगी। पुलिस कमिश्नर भोपाल के ट्विटर अकाउंट से यह निर्देश दिए गए हैं। भ्रामक ट्वीट में भोपाल डीआईजी के हवाले से एक गलत निर्देश प्रसारित किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें …Katni News : चूहा की गुंडागर्दी, चाकू अड़ा कर शराब दुकान संचालक से लूटे 3500 रुपए

सोशल मीडिया पर ‘एक दुखी हिंदू ,सरकार द्वारा शोषित हिंदू’ नाम का एक अकाउंट बना हुआ है। अकाउंट से एक अखबार की कटिंग शेयर कर की गई है जिसमें लिखा है कि भोपाल के डीआईजी ने इस तरह के निर्देश दिए हैं कि पुलिस किसी अपराधी को मारे पीटे तो उसकी जाति पूछ ले SC/ST मुजरिमों के साथ पुलिस मारपीट नहीं करें, नरमी से पेश आए। इस पेपर की कटिंग में यह भी हवाला दिया गया है कि पिछले दिनों अनुसूचित जाति जनजाति आयोग में SC/ST मुजरिमो के साथ पुलिस की मारपीट का संज्ञान लिया था और एक एडवाइजरी जारी की थी और पुलिस पर सवाल उठाए था। इसके बाद भोपाल के डीआईजी ने पुलिस को निर्देश जारी किये है कि एससी एसटी मुजरिमों के साथ मारपीट करने के बजाय नरमी बरते और पूछताछ के दौरान जबरदस्ती न करें। इतना ही नहींर इस निर्देश पर कमेंट भी किया गया है और भाजपा नेता सुशील कुमार के हवाले से कहा गया है कि ऐसे निर्देश जारी होते रहे तो अपराधों पर पुलिस कैसे काबू करेगी।

यह भी पढ़ें …MPTET Exam 2021: शिक्षकों की भर्ती के लिए 14 दिसंबर भरे जाएंगे फॉर्म, इस दिन होगी परीक्षा

कमिश्नर ऑफ पुलिस भोपाल के ट्वीट मे ‘एक दुखी हिंदू ,सरकार द्वारा शोषित हिंदू’ के ट्वीट को को पूरी तरह से भ्रामक बताया गया है। कमिश्नर ऑफ पुलिस भोपाल के ट्वीट मे लिखा गया है कि इस प्रकार की भ्रामक अफवाह फैलाने वाले पर वैधानिक कार्रवाई भी की जाएगी। पुलिस पहले भी सोशल मीडिया पर बिना किसी प्रमाण के किसी भी तरह की अफवाहों को फैलाने वालों पर कार्रवाई करने के निर्देश देती रही है और यह जरूरी हो जाता है कि कठोर कार्रवाई की जाए ताकि अब अफवाहो पर लगाम लग सके।