भाजपा ने किया ‘सियासी सड़क’ का भूमिपूजन, कांग्रेस बोली-‘पूर्व मंत्री वर्मा ने स्वीकृत की थी राशि’

बागली/देवास| सोमेश उपाध्याय| नेवरी फाटा से चापड़ा तक की जिस बदहाल सड़क ने पूर्व मंत्री दीपक जोशी को घर किया वह सड़क चुनावो में मुख्य सियासी मुद्दा थी। हाल ही में सोशल मीडिया पर आमजनता ने भी उसी सड़क को लेकर ‘सड़क नही तो वोट नही’ का कैम्पेन चलाया था। वह सड़क हाटपिपलिया की राजनीति का मुख्य केंद्र बन बैठा है। पूर्व विधायक मनोज चौधरी ने भी बेंगलुरु के रिसोर्ट से बदहाल सड़क का जिक्र किया था। हाटपिपलिया में उपचुनाव होना है ऐसे में बदहाल सड़क का मुद्दा प्रत्याशियों के लिए मुसीबत खड़ा कर सकता था। स्थिति को देखते हुए मनोज चौधरी ने भाजपा नेताओं के साथ मिलकर कोरोना संक्रमण के बावजूद सड़क का भूमि पूजन कर डाला|

भूमि पूजन के अगले दिन ही सियासत शुरू हुई| गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष राजीव खंडेलवाल पूर्व शिक्षा मंत्री दीपक जोशी, पूर्व विधायक मनोज चौधरी ने 19 करोड़ 72 लाख 78 हजार रू की राशि की लागत से बनने वाली सड़क का भूमि पूजन किया गया था। भाजपा द्वारा भूमि पूजन करने के बाद सड़क निर्माण की सियासत में नया मोड़ आ गया है ।

शुक्रवार को जिला कांग्रेस ग्रामीण अध्यक्ष अशोक पटेल एंव राष्ट्रीय युवक कांग्रेस सचिव मनीष चौधरी ने प्रेस वार्ता कर कहा कि भारतीय जनता पार्टी के पूर्व मंत्री दीपक जोशी, जिला भाजपा अध्यक्ष राजीव खंडेलवाल एवं कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए पूर्व विधायक मनोज चौधरी को शर्म आनी चाहिए कि जिस सड़क को लोक निर्माण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने स्वीकृत किया उक्त सड़क निर्माण के लिए 19 करोड़ 72 लाख 78000 की राशि जारी की थी उसी राशि से यह सड़क निर्माण का टेंडर राजलक्ष्मी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी द्वारा लिया गया है । कोरोना वायरस संक्रमण बीमारी के चलते ठेकेदार द्वारा कार्य शुरू देरी से किया गया है। इस सड़क को लेकर भाजपा द्वारा जो राजनीति की जा रही है वहां एक झूठ है फरेब है| जबकि 21 किलोमीटर सड़क निर्माण कार्य की राशि लोक निर्माण के पूर्व मंत्री सज्जन वर्मा द्वारा स्वीकृत कर जारी कर दी गई थी| उन्होंने बताया दिनांक 24 सितंबर को निविदा जारी कर प्रथम बार निविदा दिनांक 26 सितंबर को जारी की गई थी | प्रथम निविदा में 6 लोगों ने भाग लिया था परंतु निविदा 5-11 प्रतिशत दर अधिक आने के कारण निविदा दिनांक 14 जनवरी 2020 को निरस्त की गई उक्त सड़क निर्माण के लिए दूसरी बार निविदा 31 जनवरी को आमंत्रित की गई जिसमें प्राइवेट लिमिटेड मैसेज राज लक्ष्मी देवगिरी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड भोपाल की निविदा पर 16-55 प्रतिशत कम निविदा व समिति की बैठक मे दिनांक 19 मार्च 2020 को स्वीकृत की गई है । कांग्रेस सरकार द्वारा पूर्व में इस सड़क के टेंडर कर दिए गए थे सिर्फ निर्माण कार्य शुरू करना बाकी था उक्त सड़क लोक निर्माण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के द्वारा राशि जारी करने के बाद सड़क निर्माण का कार्य किया जा रहा है जिस पर भाजपा झूठी राजनीति कर रही है भाजपा के लोगों द्वारा सोशल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ाते हुए गुरुवार को प्रशासन की अनुमति के बिना भूमि पूजन किया गया ।इस बात को लेकर हम प्रशासन को भी आड़े हाथों लेते हैं। संक्रमण वायरस बीमारी के चलते भूमि पूजन जैसे कार्य किया जाना गलत है।। कांग्रेस पार्टी को छोड़ भाजपा में शामिल हुए पूर्व विधायक मनोज चौधरी को उपचुनाव में हाटपीपल्या विधानसभा क्षेत्र की जनता सबक सिखाएगी । इस अवसर पर किसान नेता बंसी तंवर प्रवक्ता मनोहर भाटिया जितेंद्र गौड़ कान्हा मिस्त्री आदि कांग्रेसी नेता मौजूद थे ।

इनका कहना
पूर्व विधायक मनोज चौधरी का कहना है कि कमलनाथ सरकार ने क्षेत्र में किसान आंदोलन के दौरान किसानों पर लगाए गए केस वापस नहीं लिए एवं मेरे क्षेत्र में सड़क निर्माण सहित अन्य कोई कार्य नहीं होने दिया जिसके कारण मैंने जनता के हित के लिए जनता की आवाज उठाने के लिए जनता के कार्य करने के लिए भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की भारतीय जनता पार्टी की सरकार द्वारा किसानों पर किए गए प्रकरण दर्ज वापस लिए गए और बरोठा फाटा से लेकर चापड़ा तक की 21 किलोमीटर सड़क निर्माण की राशि जारी कर सड़क निर्माण कार्य शुरू किया गया ।