देवास: तेंदू पत्ता तोड़ने गए युवक पर तेंदुए ने किया हमला, बमुश्किल बचाई जान

दरअसल जंगल मे तेंदू पत्ता तोड़ने गए युवक कान्हा पिता करतार पर जंगली जानवर ने हमला कर दिया। कान्हा के अनुसार जब वह तेंदू पत्ते को तोड़ने के लिए जंगल में गया था तब मादा तेंदुए ने उस पर हमला करने का प्रयास किया। परन्तु वह तेंदुए का प्रतिकार कर भागने में सफल रहा।

तेंदुए

बागली, सोमेश उपाध्याय। देवास (dewas) जिले के बागली क्षेत्र से तेंदुए (leopard) के जानलेवा हमले की खबर आई है। इन दिनों बागली के जंगल से सटे ग्रामीण इलाकों के गरीब मजदूर तेंदू पत्ते की तुड़ाई में व्यस्त हैं। वनवासी ग्रामीणों के लिए तेंदू पत्ता तुड़ाई रोजगार (employment) का बड़ा साधन है। परन्तु जंगल मे अब जंगली जानवरों द्वारा हमले की खबरों से ग्रामीणों में दशहत बनी हुई है।

यह भी पढ़ें… मंत्री विश्वास सारंग का बड़ा बयान, कहा- ‘ कमलनाथ उड़ा रहे देश के संविधान का मजाक’

आज बागली ब्लॉक के ग्राम पोलाखाल में भी इस प्रकार की घटना सामने आई है। दरअसल जंगल मे तेंदू पत्ता तोड़ने गए युवक कान्हा पिता करतार पर जंगली जानवर ने हमला कर दिया। कान्हा के अनुसार जब वह तेंदू पत्ते को तोड़ने के लिए जंगल में गया था तब मादा तेंदुए ने उस पर हमला करने का प्रयास किया। परन्तु वह तेंदुए का प्रतिकार कर भागने में सफल रहा। हालांकि कान्हा की पीठ पर पंजो के निशान जरूर लगें है। इससे ये साफ होता है कि तेंदुए ने कान्हा पर जोरदार हमला किया था।

यह भी पढ़ें… बीजेपी विधायक ने सरकारी सिस्टम में लगाया भ्रष्टाचार का आरोप, सीएम को लिखा पत्र

गौरतलब है कि पिछले दिनों भी खेत से एक 5 वर्षीय बालक को तेंदुआ उठा ले गया था। एक अनुमान के मुताबिक क्षेत्र में करीब 17 से 20 तेंदुए मौजूद है। वहीं बाघ व लक्कड़ बग्गा भी इन जंगलों में हैं।