Dewas News : जिला अस्पताल से नवजात बच्ची गायब, चोरी की आशंका

अस्पताल के डिलेवरी वार्ड में मौजूद कुछ महिलाओं ने वहां तीन अज्ञात लोगों को घूमते हुए भी देखा था।

देवास, शकील खान। जिला अस्पताल से तीन दिन की नवजात बच्ची (Newborn Girl) के गायब होने सनसनी फ़ैल गई। बच्ची के गायब होने के बाद से उसकी मां, पिता और परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है। परिजनों ने बच्ची के चोरी होने आशंका जताई है। बच्ची के गायब होने के बाद परिजनों ने हंगामा खड़ा कर दिया। हंगामे की सूचना पर एसपी भी जिला अस्पताल पहुंच गए। एसपी ने अस्पताल परिसर व उसके आसपास के सभी सीसीटीवी फुटेज चेक कर संदेहियों को तलाशने के निर्देश  दिए। हैं

देवास जिला अस्पताल (Dewas District Hospital) से आज अलसुबह तीन दिन की बच्ची गुम हो गई, परिजनों ने अस्पताल परिसर में उसकी तलाश भी की लेकिन बच्ची नहीं मिली, आशंका जताई जा रहीं हैं कि अज्ञात बच्चा चोर उसे चुरा ले गए हैं। बच्ची गुम होने की सनसनी पूरे अस्पताल में फैल गई, परेशान बच्ची के परिजनों ने जमकर हंगामा कर दिया। आक्रोशित परिजनों ने जिला अस्पताल में हंगामा कर AB रोड पर चक्काजाम कर दिया।

ये भी पढ़ें – MP में गृहमंत्री अमित शाह ने ये बड़ी घोषणा, बोले- पुलिस को टेक्नोलॉजी से लैस करना होगा

देवास के महात्मा गांधी जिला अस्पताल में भर्ती शाजापुर निवासी टीना वर्मा ने तीन दिन पूर्व एक बच्ची को जन्म दिया था। बच्ची को उसकी नानी लेकर सोई थी, जब करीब सुबह साढ़े तीन बजे नानी की नींद खुली तो उन्हें बच्ची उनके पास नहीं दिखी। उन्होंने टीना से पूछा तो बच्ची उसके पास भी नहीं थी। बच्ची की नानी व अन्य परिजनों ने उसे अस्पताल परिसर में तलाश करने की बहुत कोशिश की लेकिन बच्ची कहीं नहीं मिली। बच्ची के गुम होने से बच्ची की मां, पिता और सभी परिजनों का रो- रो कर बुरा हाल हो गया।

ये भी पढ़ें – MP News : प्रशांत किशोर की भूमिका को लेकर कमल नाथ ने कही ये बड़ी बात

उधर अस्पताल के डिलेवरी वार्ड में मौजूद कुछ महिलाओं ने वहां तीन अज्ञात लोगों को घूमते हुए भी देखा था। उनके मुताबिक एक महिला व दो पुरुष थे व महिला के मुंह पर स्कार्फ भी बंधा था। आशंका जताई जा रहीं हैं कि अज्ञात चोर बच्ची को चुरा ले गए हैं। घटना के बाद से जिला अस्पताल में सुरक्षा इंतजाम को लेकर भी अब सवाल उठाए जा रहे हैं।  हंगामे की सूचना मिलने पर एसपी डॉ. शिवदयाल सिंह, एएसपी, एडीएम सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी जिला अस्पताल पहुँच गए। एसपी ने बच्ची के परिजनों से चर्चा की, साथ ही उन्होंने ड्यूटी डॉक्टर्स से भी बात की। एसपी ने अस्पताल परिसर व उसके आसपास के सीसीटीवी फुटेज चेक कर बच्ची की तलाश किए जाने के निर्देश दिए हैं।

ये भी पढ़ें – MP: 4 वेदर सिस्टम एक्टिव, 9 जिलों में बौछार के आसार, बिजली गिरने भी अलर्ट, जानें हफ्ते का हाल

बच्ची के परिजन व अस्पताल व्यवस्था से नाराज अन्य लोग करीब तीन घण्टे तक हंगामा कर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते रहे। उनका आरोप था कि अस्पताल परिसर के अधिकांश सीसीटीवी कैमरे बंद पड़े हैं, साथ ही अस्पताल में सुरक्षा इंतजाम नहीं होने की वजह से यह घटना हुई हैं। उनकी मांग थी कि सीएमएचओ की लापरवाही की वजह से अस्पताल में अव्यवस्थाएं बढ़ती जा रहीं हैं। इसलिए सीएमएचओ को तत्काल हटाया जाए।

बच्ची की माँ टीना वर्मा ने बताया कि बच्ची को टीका लगा था, जिसकी वजह से वह रात को परेशान हो रहीं थी। इसलिए उसे मम्मी (बच्ची की नानी) के पास सुला दिया था। जब सुबह करीब साढ़े तीन बजे देखा तो बच्ची नहीं थी। बच्ची के पिता विशाल वर्मा ने कहा कि अस्पताल में बाहर सो रहे थे, रात को सासू जी का फोन आया कि गुड़िया गायब हो गई हैं वह नहीं मिल रहीं। हमने उसे यहां वहां तलाश भी किया। वहां बैठी महिलाओं ने बताया कि यहां दो जेंट्स व एक महिला  आए थे और वह आईसीयू वार्ड की तरफ गए थे। जब वार्ड में जेंट्स का प्रवेश ही नहीं हैं तो वह वहां कैसे पहुँचे और मेरी गुड़िया भी उसी वक्त गायब हुई हैं। पीड़ित पिता ने कहां,  मैंने 100 डायल पर भी शिकायत की पर कोई सहायता नहीं मिली। मैं अकेला ही पूरे अस्पताल में बच्ची को ढूंढता रहा आसपास के सभी डस्टबिन भी मैंने तलाश किए मुझे लगा हो सकता कहीं वह बच्ची को फेंककर चले गए हो, पर वह कहीं नहीं मिली।

वहीं एसपी डॉ शिवदयाल सिंह ने कहा कि सूचना मिली है तफ्तीश करवा रहे हैं कि अस्पताल से नवजात शिशु कैसे गायब हो गया।  उन्होंने कहा कि अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच की जा रही है। अस्पताल में कौन अंदर था या आया था उसकी सीसीटीवी फुटेज चेक किये जा रहे हैं।