देवास पुलिस को मिली बड़ी सफलता,नकली नोट बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश

पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई में आरोपियों के पास से किए गए 2 लाख 37 हजार के जाली नोट जब्त।

देवास, सोमेश उपाध्याय। जिले पुलिस को आज बड़ी सफलता हाथ लगी है, देवास जिले की बीएनपी थाना पुलिस ने मंगलवार को नकली नोट छापने वाली गैंग का पर्दाफाश किया है। बताया जा रहा है कि आरोपियों के पास कोई काम नहीं था और वो बेरोजगार थे जिसके कारण उन्होंने नकली नोट छापने का प्लान बनाया। पुलिस ने आरोपियों के पास से 100,200 और 500 रुपए के नकली नोट जब्त किए है। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसपी शिव दयाल सिंह ने बताया कि टीआई को मुखबिर द्वारा सूचना मिली थी कि उज्जैन रोड पर विजयगंज मंडी ब्रिज के पास दो आरोपी नकली नोट चला रहे है, जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दीपक पिता कृष्ण मोहन श्रीवास्तव जोकि 22 साल का है और गर्ग स्टेट का रहने वाला है और रोहित परमार पिता संतोष परमार जिसकी उम्र 24 साल है और जो बावडिया का रहने वाला है उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने मौके पर तलाशी ली और आरोपी दीपक के पास से 500 रुपए और 200 रुपए के 100-100 नोट मिले, जो हुबाहू असली नोट जैसे दिख रहे थे। वहीं आरोपी रोहित की तलाशी लेने पर उसके पास से 200 रुपए के 100 नोट मिले। पुलिस द्वारा पूछताछ करने पर आरोपी दीपक ने बताया कि वो गर्ग स्टेट बावडिया में रहता है और घर पर ही वो फोटोकॉपी स्केनर और कलर प्रिंटर से नकली नोट छापता है। साथ ही अपने साथियों के साथ मिलकर नकली नोटों को बाजार में चलाता है।

वहीं आरोपी दीपक के घर पहुंचकर पुलिस ने वहा से 2000 रुपए के 39 नोट, 500 रुपए के 200 नोट, 200 रुपए के 195 नोट, एक प्रिंटर, फोटो कॉपी स्केनर मशीन, एक पेपर कटर और नकली नोट बनाने के पेपर जब्त किए है।साथ ही पुलिस ने एक बाइक भी जब्त की है। पुलिस द्वारा दोनों आरोपियों के पास से कुल 2 लाख 37 हजार रुपए के जाली नोट जब्त किए गए है। पुलिस आरोपियों से पूछताछ में लगी हुई है, पूरे मामले में कई नामों के खुलासा होने की उम्मीद जताई जा रही है। पुलिस आगे की जांच में जुट गई है।