देवास : पुलिस ने सुलझाई पाँच माह पुराने अंधेकत्ल की गुत्थी

पैसे के लालच में एक ही परिवार के पांच लोगों ने मिल कर की बुजुर्ग महिला की हत्या,

देवास/बागली, सोमेश उपाध्याय। जिले के बागली क्षेत्र अंतर्गत चापड़ा में बीते 5 माह पूर्व बुजुर्ग महिला के अंधे कत्ल की रहस्यमई गुत्थी बागली पुलिस ने आखिरकार सुलझा ली।

हम आपको बता दें कि 18 अगस्त 2021 को बागली के चापड़ा में सावित्रीबाई पाटीदार का शव घर के पास ही तबेले में मिला, परंतु लंबी जांच के बाद भी महिला की हत्या का खुलासा नहीं हो सका। उक्त मामले में पाटीदार समाज व स्थानीय ग्रामीणों ने लामबंद होकर मामले के शीघ्र निराकरण की मांग भी प्रशासन से की थी। 4 माह बीत जाने के बाद भी घटना का कोई सुराग हाथ ना लगना पुलिस प्रशासन के लिए एक चुनौती बन गया था वही ग्रामीणों में भी आक्रोश बढ़ता जा रहा था। मामले की गंभीरता को देखते हुए देवास एसपी डॉ.शिवदयाल सिंह ने बागली के नवागत टीआई दीपक यादव के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन किया जांच के निर्देश दिए थे। टीआई यादव ने प्रत्येक पहलुओं पर बारीकी से जांच करते हुए बहुत कम समय में पूरी घटना का खुलासा कर दिया। पुलिस ने बताया कि मृतिका सावित्रीबाई पाटीदार ब्याज का धंधा करती थी और परिवार से अलग रहती थी। सावित्रीबाई और आरोपी सिद्धेश्वर उपाध्याय (78) मिलकर लोगों को पैसा दिया करते थे।

यह भी पढ़े…जबेरा सिग्रामपुर के बीच भीषण सड़क दुर्घटना, तीन बाइक सवार युवकों की मौत

क्या है मामला
मृतिका सावित्री बाई ने गांव में ही रहने वाले जगदीश बैरागी को ब्याज पर रुपए दिए थे। यह रकम करीब 1 लाख 30 हजार रुपए हो गई थी। रुपए नहीं दे पाने के कारण जगदीश ने अपना मकान आरोपी सिद्धेश्वर के पास गिरवी रख दिया, परन्तु सिद्धेश्वर ने सावित्री बाई को पैसे नहीं दिए। बार-बार पैसे मांगने से परेशान आरोपी सिद्धेश्वर ने परिवार के सदस्यों के साथ मिलकर सावित्रीबाई की हत्या कर दी थी।

यह भी पढ़े…गुना : राघौगढ़ के राजपुरा में जमीन से खोदकर निकाली 400 लीटर अवैध शराब जप्त

पूरे मामले में बागली पुलिस ने सिद्धेश्वर पिता मिश्रीलाल (79), पुत्र देवकरण उर्फ मनोहर पिता सिद्धेश्वर (58),नीलेश पिता देवकरण (30) निवासी नेमावर रोड़ चापड़ा, भांजे हर्षित उर्फ मनीष पिता सतीश शर्मा (20) निवासी 74 कवि कालिदास मार्ग देवास,दामाद नरेन्द्र पिता प्रेमनारायण शर्मा (39) निवासी शुजालपुर मंडी को गिरफ्तार किया है।

इस कार्रवाई में उप निरीक्षक दीपक मालवीय सहायक उप निरीक्षक अजय शर्मा अहमद कुरैशी ,देवी सिंह निनामा, आरक्षक महेश ,धर्मेंद्र ,संजय, रघुवीर ,आशीष ,राजू ,राजेश, संतोष सहित साइबर सेल प्रभारी सचिन चौहान शिव प्रताप सिंह सेंगर की अहम भूमिका रही।