धोखाधड़ी मामला : CISF की फिजिकल परीक्षा में एक और मुन्ना भाई पकड़ा

आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर जांच की जा रही है।

देवास,डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश के देवास (dewas) से धोखाधड़ी का मामला सामने निकलकर आ रहा है, बताया जा रहा है कि बैंक नोट प्रेस के अंदर CISF बल यूनिट में चल रही सुरक्षा बलों की भर्ती प्रक्रिया में धोखाधड़ी का एक सप्ताह के अंदर दूसरा मामला प्रकाश में आया है, एक सप्ताह पहले मुरैना जिले का युवक पकड़ा गया था।

यह भी पढ़े…सीएम शिवराज की बड़ी घोषणा, प्राकृतिक कृषि बोर्ड गठन करने वाला तीसरा राज्य बना MP, मिलेगा लाभ

आपको बता दें कि एक युवक फर्जी तरीके से CISF की फिजिकल परीक्षा देते हुए पकड़ा गया। CISF के द्वारा शिकायती आवेदन पर थाना बीएनपी पुलिस ने सतना जिले के निवासी आरोपी धीरज सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है और उससे पूछताछ की जा रही है।

यह भी पढ़े…MPPSC : उम्मीदवारों के लिए महत्वपूर्ण अपडेट, पुनरीक्षित चयन परिणाम जारी, देखें लिस्ट

बीएनपी पुलिस ने बताया कि फरियादी नरेंद्र सिंह (47) सहायक कमांडेंट की रिपोर्ट पर आरोपी धीरज सिंह के खिलाफ धारा 419, 420, 120बी के तहत मामला दर्ज कर लिया है। गुरुवार को बॉयोमेट्रिक टेस्ट के दौरान सतना जिले के युवक धीरज सिंह का फोटो मिलान नहीं हुआ। उसके फोटो की जगह रिकॉर्ड में किसी अन्य का फोटो आ रहा था, शंका होने पर पूछताछ की गई तो उसने बताया कि लिखित परीक्षा उसने एक परिचित युवक से दलवाई थी क्योंकि उसे खुद के पास हो पाने में शंका थी। परीक्षा में सफल होने के बाद वो खुद फिजिकल के लिए देवास आया था।

धोखाधड़ी मामला : CISF की फिजिकल परीक्षा में एक और मुन्ना भाई पकड़ा

यह भी पढ़े…Government Job 2022 : यहाँ 3612 पदों पर निकली है भर्ती, जानें आयु-पात्रता, 27 जून से पहले करें आवेदन

सीएसपी विवेक सिंह ने बताया कि बीएनपी में CISF की भर्ती परीक्षा के दौरान फिजिकल टेस्ट चल रहा है। इस दौरान धीरज सिंह निवासी सतना के बायोमेट्रिक टेस्ट में फोटो व फिंगर प्रिंट मैच न होने के कारण परीक्षा कमाण्डेंट ने रोक कर पुछताछ की तो धीरज भागने लगा। तभी उससे पकड़कर सख्ती से पुछताछ की गई तो आरोपी ने बताया कि उसने अपने किसी साथी के माध्यम से लिखित परीक्षा लिखवाई थी और धोखाधड़ी से यह भाग ले रहा था। आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर जांच की जा रही है।