गृह निर्माण समिति का मामला: रजिस्ट्री की जांच के लिए पुलिस में शिकायत

देवास।अमिलाभ शुक्ला।

मोती बंगला क्षेत्र के कुछ रहवासी फर्जी ढंग से एक जमीन की रजिस्ट्री हो जाने की शिकायत को लेकर शुक्रवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे। लोगों ने बताया कि जिन लोगों ने क्रेता-विक्रेता के रुप में रजिस्ट्री की है, उन्हें हम जानते ही नहीं है। लोगों ने बताया कि यह दोनों ही सहकारी समिति के कभी सदस्य भी नहीं रहे जबकि जमीन समिति की है।
क्षेत्र के लोगों ने बताया कि एक फर्जी रजिस्ट्री 21 नवंबर 2019 को हुई है। इस रजिस्ट्री की जानकारी भारतीय गृह निर्माण समिति के सदस्यों को चार फरवरी 2020 को मिली। रजिस्ट्री की फोटोकॉपी मिली है। वर्तमान स्थिति में भारतीय गृह निर्माण समिति परिसमापक है। एसपी कार्यालय पहुंचे लोगों ने बताया कि हमारी जानकारी के अनुसार माजिद अहमद पिता बशीर अहमद शेख कभी भी संस्था का सदस्य नहीं रहा। इसी प्रकार माखनसिंह पिता जुबराजजी निवासी ग्राम इजगिरी तहसील बैरसिया भोपाल भी कभी संस्था का सदस्य नहीं रहा। न ही कभी रहवासियों ने उसे अध्यक्ष बनाया। रजिस्ट्री में बिक्री खत लिख देने वाले का कोई परिचय का भी उल्लेख नहीं है। साथ ही रजिस्ट्री के संबंध में रुपए के लेन-देन का भी उल्लेख नहीं है। लोगों ने कहा कि इस तरह की स्थितियों के चलते इस रजिस्ट्री की जांच की जाना आवश्यक है। साथ ही इस रजिस्ट्री को भी निरस्त किया जाना चाहिए । वहीं रहवासी बाद में रजिस्टार कार्यलय भी गए और मामले को लेकर शिकायत दर्ज की ।