कोरोना के बीच चेंपियनशिप को लेकर भारतीय कुश्ती संघ ने जारी की अहम जानकारी

देवास, सोमेश उपाध्याय। वैश्विक महामारी कोविड (COVID-19) के जोखम को कम करने व संंक्रमण फैलने से रोकने के लिए तथा उसके जोखिमों को देखते हुए भारतीय कुश्ती संघ ने कई महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की है। यह जानकारी एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ से अंतराष्ट्रीय कुश्ती कोच कृपाशंकर बिश्नोई ने विशेष रूप से साझा की है।

सीनियर राष्ट्रीय कुश्ती चेम्पियनशिप के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी

राष्ट्रीय कुश्ती चैंपियनशिप में भाग ने वाले सभी राज्यों व कुश्ती संघ की सभी इकाइयों के सभी एथलीट, कोच और सीनियर फ्री के अन्य प्रतिभागी चैंपियनशिप के दौरान PCR Serological टेस्ट होना चाहिए जो की खुद के राज्य में होना चाहिए और यह टेस्ट राष्ट्रीय कुश्ती चैंपियनशिप शुरू होने से 3 दिन से ज्यादा पुराना नहीं होना चाहिए।

मेजबान शहर में आगमन का दिन

सभी एथलीट, कोच और सीनियर फ्री के अन्य प्रतिभागी को चाहिए की वह चैंपियनशिप में प्रतियोगिता अनुसूची के अनुसार अपनी यात्रा की योजना बनाएं। टीम के साथ अतिरिक्त व्यक्ति भेजने से बचें। किसी भी अतिरिक्त व्यक्ति को अनुमति नहीं दी जाएगी।

खेल के क्षेत्र में अनावश्यक भीड़ से बचें। यदि कोई बिना कारण पाया गया, तो स्टेट एसोसिएशन पर जुर्माना लगाया जाएगा। सभी कोच/अधिकारियों को एक दूसरे से कम से कम छह फीट की दूरी पर रहना चाहिए। प्रत्येक टीम के प्रतिनिधिमंडल के सभी सदस्यों के पास कोविड -19 पर नकारात्मक PCR Serological टेस्ट का परीक्षण रिपोर्ट होना चाहिए। टेस्ट रिपोर्ट चैंपियनशिप में आने से पिछले 72 घंटे से अधिक पुराना नहीं होना चाहिए। डब्लूएफआई के अधिकारियों के आने पर तुरंत दस्तावेज़ जमा करें। इस दस्तावेज़ के बिना भाग लेने की अनुमति किसी भी टीम को नहीं दी जाएगी। चैंपियनशिप के दौरान कुश्ती मुकाबले और ट्रेनिंग को छोड़कर बाकी सभी स्थानों पर प्रतिभागियों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य है।

सत्यापन के दौरान सामाजिक दूरी बनाए रखें। कार्यक्रम के अनुसार सत्यापन किया जाएगा। पहलवान और कोच सत्यापन के शेड्यूल और डेडलाइन का पालन करें। कोई भी पहलवान जिसका वजन वर्ग अगले दिन ना हो वह सत्यापन के स्थान पर जाने की अनुमति नहीं होगी। अगर कोई ऐसा करता पाया गया तो उसके खिलाफ कार्यवाही कर डिस्क्वालिफॉय कर दिया जाएगा। राज्य संघ जो टीमों को प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए भेज रहे हैं उन्हें पहलवानों द्वारा विधिवत भरा हुआ घोषणा पत्र प्रस्तुत करना होगा।