पुलिस-प्रशासन की सूदखोरों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई, कब्जे से छुड़ाई गाड़ियां

देवास, अमिताभ शुक्ला। प्रदेश भर में एंटी माफिया अभियान ज़ारी है,जिसके तहत तमाम माफियाओ के साथ साथ सूदखोरों के खिलाफ भी अभियान चल रहा है। देवास में पुलिस और प्रशासन की सूदखोरों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए उनके कब्जे से गाड़ियां मुक्त कराकर उनके मालिकों को सौंपी। कोर्ट से आदेश कराकर पुलिस द्वारा की गई ये एक अच्छी पहल है।

देवास में पुलिस और प्रशासन ने एक अच्छी पहल करते हुए सूदखोरों द्वारा ऊंचे दरों पर गिरवी रखी गई गाड़ियां सूदखोर से मुक्त करा कर वाहन स्वामियों को सौंपी गई। कलेक्टर चंद्रमौली शुक्ला और एसपी डॉक्टर शिव दयाल सिंह ने औद्योगिक थाना परिसर में कैम्प लगाकर वाहन स्वामियों को उनके वाहन सौंपे। वाहन स्वामियों को उनके वाहन कोर्ट से आदेश कराकर दिए गए। पुलिस और प्रशासन की इस कार्रवाई से पीड़ितों ने खुशी जाहिर की है।

बता दें कि देवास के भेरूगढ़ क्षेत्र में रहनेवाले कपिल और सुरेश पिता नन्हेलाल रायकवार को पिछले दिनों कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार कर उसके कब्जे से 28 मोटरसाइकिल और दो कार जब्त की थी। यह वाहन सूदखोर द्वारा उन पीड़ितों से छुड़ाए गए थे जो या तो ब्याज नहीं दे पाए थे या फिर मूलधन। ये दोनों 10 और 12 फीसदी ब्याज पर लोगो को उधार पैसा देने का काम करते थे।। कई लोग तो उधार ली गई राशि से कई गुना ज्यादा राशि चुका चुके है, किन्तु कर्ज था कि खत्म होने का नाम नहीं ले रहा था। जब पुलिस ने एक शिकायत के बाद आरोपियों को पकड़ा तो कई पीड़ित सामने आए।

आज औद्योगिक थाना क्षेत्र परिसर में पत्रकारों से चर्चा करते हुए पुलिस अधीक्षक डॉ शिव दयाल सिंह ने बताया कि देवास पुलिस ने पीड़ितों को उनके वाहन लौट आने की पहल करते हुए कोर्ट से आदेश कराए और आज वाहन स्वामियों को उनके वाहन लौटाए जा रहे हैं।
कलेक्टर चंद्रमौली शुक्ला ने कहा,कि देवास पुलिस की यह अपने आप में अनूठी पहल है। जिसके चलते वाहन स्वामियों को उनके वाहन छुड़ाने के लिए कोर्ट के चक्कर नहीं काटने पड़े और उन्हें उनकी गाड़ियां आज वापस दी जा रही है।

कलेक्टर चंद्रमौली शुक्ला ने बताया कि इसी तरह जल्दी ही हम चिटफंड पीड़ितों को भी उनकी राशि लौटायेंगे। मालवांचल चिटफंड की तमाम जमीन और संम्पत्ति नीलाम करने की अनुमति हमे कोर्ट से प्राप्त हो चुकी है। नीलामी भी घोषित कर दी गई है, जल्द ही उनकी संम्पत्ति को नीलाम कर पीडितों को उनका पैसा लौटाया जाएगा।