स्कूली शिक्षा मंत्री ने शालाओं को लेकर की ये बड़ी घोषणा, 300 वनवासियों को पट्टे बांटे

देवास/बागली, सोमेश उपाध्याय। शनिवार को स्थानीय मंडी परिसर में वन अधिकार अधिनियम 2006 अन्तर्गत वनाधिकार पट्टों का वितरण कार्यक्रम आयोजित किया गया।कार्यक्रम के मुख्य अतिथि स्कूली शिक्षा राज्य मंत्री इंदरसिंह परमार थे।

इस अवसर पर राज्‍य मंत्री स्‍कूल शिक्षा (स्‍वतंत्र प्रभार) सामान्‍य प्रशासन इंदर सिंह परमार ने कहा कि मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान गरीबों के मसीहा है। उन्‍होंने गरीबों के कल्‍याण के लिए कई योजनाएं शुरू की है। प्रदेश सरकार द्वारा 16 सितम्‍बर से 24 सितम्‍बर तक गरीब कल्‍याण सप्‍ताह का आयोजन किया जा रहा है जिसके तहत आज वन अधिकार अधिनियम 2006 अन्तर्गत वनाधिकार पट्टों का वितरण किया जा रहा है। देवास जिले में लगभग 1 हजार वनाधिकार दावे स्वीकृति किये गए है। जिसमे जिले में आज लगभग 300 हितग्राहियों को वन अधिकार पट्टों का वितरण किया गया हैं जिसमें सर्वाधिक वनाधिकार पट्टे बागली विकासखण्‍ड में बांटे गये हैं।

राज्‍य मंत्री ने कहा कि लंबे समय से वनवासियों को पट्टो का इंतजार था। आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सबको पट्टा दिया है। प्रदेश सरकार आज प्रदेश में 23 हजार वनवासियों को पट्टे वितरित कर रही है। वनवासी बरसों से खेती कर रहे थे पर उनके मालिक नहीं थे, अब उन्हें पट्टे मिलने से सारी सुविधा मिलेगी। पट्टा मिलने से उनकी जिंदगी में बदलाव महसूस होगा। वनाधिकार पट्टे मिलने से अब वनवासियों को भूमि पर सिंचाई की सुविधा मिलेगी, भूमि को कृषि योग्य बनाने के लिए भूमि सुधार एवं मेढ़ बांधन की सुविधा मिलेगी। खाद बीज, कृषि यंत्र और सिचाई पम्प की सुविधा मिलेगी। वन अधिकारी पट्टा मिलने से अब 50 हजार रुपये तक का अल्प अवधि ऋण हितग्राहियों को मिल सकेगा।
राज्‍य मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा कि प्रदेश सरकार की मंशा है कि सभी गरीबों को योजनाओं का लाभ मिले। मध्यप्रदेश में 2024 तक सभी गरीबों को पक्का मकान दिया जाएगा। मजदूर भाई जो अन्य प्रदेश में काम के लिए गए थे परंतु कोरोना के कारण उन्हें वहां से वापस आना पड़ा उनके लिए भी प्रदेश सरकार ने खाद्यान्न की व्यवस्था की और उन्हें निशुल्क खाद्य सामग्री वितरित की। प्रदेश सरकार ने ऐसे छूटे हुए लोगों को जिन्हें अभी तक खाद्य सामग्री नहीं मिलती थी, उन्हें पात्रता पर्ची वितरित की है। प्रदेश में 37 लाख लोगों को पात्रता पर्ची वितरित की है। स्ट्रीट वेंडर योजना में देश मे सर्वाधिक पंजीयन मध्यप्रदेश में हुए है। प्रदेश सरकार में स्ट्रीट वेंडर योजना में 8 लाख पंजीयन हुए हैं। उन्होंने कहा कि 24 तारीख को प्रदेश सरकार ग्रामीण पथ विक्रेताओ के खातों में राशि डालेगी। जिससे वह अपना व्यवसाय पुन: शुरू कर सकेंगे। ग्रामीण पथ विक्रेता योजना में प्रदेश सरकार हितग्राहियों को 10 हजार रुपये की राशि बैंक द्वारा दिलवायेगी। जिसका ब्याज प्रदेश सरकार देगी। प्रदेश सरकार द्वारा स्‍वच्‍छ भारत अभियान तहत शौचालय बनाने का कार्य किया जा रहा है।

राज्‍य मंत्री ने कहा कि 21 सितम्‍बर से 9 से 12 तक के स्‍कूल शुरू हो रहे हैं। शिक्षक स्‍कूलों में उपस्थित रहेंगे और विद्यार्थी छोटे-छोटे ग्रुप में आकर पढाई के संबंध में जानकारी ले सकेंगे। इसी के साथ उन्होने सभी से अपील की है कि रोजमर्रा की आवश्यकताओं के लिए बाजार खोला गया है। आप जब भी घर से बाहर निकले हैं मास्‍क जरूर लगाएं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। उन्‍होने बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने सभी नागरीकों से कहा है कि ‘’दो गज की दूरी मास्‍क जरूरी’’ अपने जीवन में इसका सभी को पालन करना चाहिए। उन्‍होंने आत्‍म निर्भर भारत बनाने में सभी को अपना योगदान देने को कहा है। कार्यक्रम में पट्टों के प्रमाण पत्र वितरण के दौरान बुजुर्ग आदिवासि मंत्री परमार के पैर छूते भी दिखाई दिए, हालांकि मंत्री ने बुजुर्गों को पैर छूने से मना किया।

शिक्षकों की कमी पर बोले यह बड़ी बात

इंदर सिंह परमार ने कहा कि आने वाले समय में ‘’एक शाला एक परिसर’’ ऑनलाइन योजना से पढ़ाई कराई जायेगी। प्रदेश के 10 हजार स्‍कूल का चयन किया जायेगा। यह योजना शीघ्र शुरू की जायेगी। शिक्षा नीति से आप शिक्षा में बदलाव आएगा। प्रदेश में जिन ग्रामीण क्षेत्रों में अभी इंटरनेट की सुविधा नहीं है, उन ग्रामीण क्षेत्रों में भी इंटरनेट की सुविधा पहुंचाई जाएगी। स्कूलों को स्मार्ट बनाया जाएगा शिक्षा के क्षेत्र में बदलाव बड़े बदलाव करने पड़े तो वो भी करेंगे। कोरोना से शैक्षणिक गतिविधियां प्रभावित नहीं हों इसके प्रयास भी किए जा रहे हैं।

पूरी तैयारी,जीतेंगे उपचुनाव

एमपी ब्रेकिंग द्वारा हाटपिपल्या उपचुनाव को लेकर किए गए प्रश्न पर मंत्री परमार ने कहा कि हमारी संगठनात्मक तैयारियां पूरी की जा चुकी है! प्रत्याशी की केवल घोषणा बाकी है प्रत्याशी तय है और हम हाटपिपलिया पूरी तरह जीतेंगे।

इस कार्यक्रम में बागली विधायक पहाड सिंह कन्‍नौजे ने कहा कि प्रदेश सरकार वनवासियों के साथ है। ये गरीबों की सरकार है। वर्षों से वनवासियों के पास पट्टा नहीं था, आज प्रदेश सरकार उन्‍हें पट्टा दे रही है। उन्होंने प्रशासन को भी धन्यवाद दिया है कि प्रशासन ने भी इस काम के लिए दिन रात कार्य किया है। सरकार ने गांव-गांव सड़क बनाई है। हर गांव में पक्के मकान बन रहे हैं। उन्‍होंने किसानों से अपील की है खेतों के मेडों पर बास के पेड़ लगाये, सुरजना फली लगाये। किसान खेतों की मेड़ की भूमि का पूरा उपयोग करें।

कार्यक्रम में बागली विधायक पहाड़ सिंह कन्नौजे सहित भाजपा जिलाध्यक्ष राजीव खंडेलवाल, मण्डल अध्यक्ष टिकेंद्र प्रताप सिंह, शैलेन्द्र अग्रवाल, कमल यादव, कमल जायसवाल, डॉ रामचन्द्र राठौर, ईशान उपाध्याय, मनीष सेन व अन्य जनप्रतिनिधियों सहित कलेक्टर चंद्रमौली शुक्ला, एसडीएम अरविंद चौहान, सु्प्रिया बिसेन सहित और हितग्राही उपस्थित थे। यहां लोगों ने राज्य स्तर पर होने वाले मुख्यमंत्री का लाइव प्रसारण भी देखा।