मस्जिद के सामने से निकली राम यात्रा का मुस्लिम समाज ने किया फूलों से स्वागत

मुस्लिम समाजजनों का कहना है कि बागली में सभी धर्मो के प्रति सम्मान की परम्परा है। सभी धर्मो में परस्पर प्रेम व भाईचारा बना रहे, यही हमारी कामना है।

बागली, सोमेश उपाध्याय| एक और प्रदेश के दो स्थानों पर रामजन्मभूमि निधि संग्रह अभियान अंतर्गत निकाली गई रैली पर पत्थरबाजी की घटनाएं सामने आई तो वहीं देवास जिले के बागली में इसके उलट अलग ही नजारा देखने को मिला। यहां राम रथ यात्रा (Ram Rath Yatra) जब स्थानीय मस्जिद के सामने से निकली तो मुस्लिम समाजजनों ने पुष्पवर्षा कर स्वागत किया। हालांकि बागली (Bagli) में इस प्रकार के उदाहरण आम है।

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) के प्रांत सेवा प्रमुख योगेश शर्मा ने कहा कि जिस राम जन्मभूमि पर मंदिर का पुनर्निर्माण हो रहा है, उसके लिए हमें लंबा संघर्ष करना पड़ा। मंदिर निर्माण हो रहा है, यही हमारा सौभाग्य है। यह हमारी आस्था का राष्ट्रीय भावना का और करोड़ों लोगों की सामूहिक संकल्प शक्ति का भी प्रतीक बनेगा। इसलिए सभी के स्वैच्छिक सहयोग से ही भव्य राम मंदिर का निर्माण होगा। प्रत्येक हिन्दू समाजजन अपने पूर्वजों की कीर्ति और वर्तमान के पुरुषार्थ के सनुसार ही समर्पण करें।

शर्मा ने कहा कि समाज को राष्ट्रद्रोही ताकतों से लड़ने की चुनोती भी है, इसलिए भारत को परम वैभव पर ले जाने के लिए हिन्दू समाज की जागृति आवश्यक है। वही जिला सहकार्यवाह धर्मेंद्र सैंधव ने अभियान की जानकारी देते हुए कहा कि यात्रा शिवाजी कालोनी यह स्थित गणेश मंदिर से आरम्भ हुई। जहा बाल कलाकार प्रसिद्दि व सम्रद्धि चौधरी ने राम जन्मभूमि पर केंद्रित नृत्य प्रस्तुती दी। यात्रा में शामिल युवाओं ने आतिशबाजी करते हुए गगनभेदी जयकारे लगाए। पूरा नगर जय-जय सियाराम के जयघोष से गूंज उठा। शोभायात्रा में बड़ी संख्या में हिंदू संगठनों के कार्यकर्ता उपस्थित रहे। नाचते-गाते हुए शोभायात्रा गांव के हर गली-मोहल्ले से गुजरी। यात्रा में बहुत बड़ी सँख्या में नगरवासी सम्मिलित हुए। पूरे नगर को भगवा पताकाओं से सजाया गया था।

जगह-जगह हुआ स्वागत-
यात्रा का पूरे नगर में विभिन्न सामाजिक संगठनों, मातृशक्तियों के साथ ही स्थानीय नूरी इस्लामिया कमेटी के सदस्यों द्वारा भी पुष्प वर्षा कर स्वागत किया। मुस्लिम समाजजनों का कहना है कि बागली में सभी धर्मो के प्रति सम्मान की परम्परा है। सभी धर्मो में परस्पर प्रेम व भाईचारा बना रहे, यही हमारी कामना है।