प्राइवेट स्कूल से मांगा पिछले तीन साल का लेखा जोखा, सामाजिक कार्यकर्ता ने लिखा पत्र

देवास, सोमेश उपाध्याय। शहर सहित प्रदेश के समस्त अशासकीय सीबीएसई स्कूलों की पिछले 3 वर्षों की ट्यूशन फीस को सार्वजनिक कर निर्धारित ट्यूसन फीस करने को लेकर सोमवार को प्रेमनगर पार्ट 2 निवासी सामाजिक कार्यकर्ता गोपाल अग्रवाल ने मुख्य सचिव, आयुक्त लोक शिक्षण संचालनालय, इंदौर/उज्जैन संभाग के सहायक संचालक, कलेक्टर एवं शिक्षा अधिकारी को पत्र लिखा।

सामाजिक कार्यकर्ता गोपाल अग्रवाल ने बताया कि अशासकीय सीबीएसई स्कूल जो प्रदेश में संचालित है। उनके द्वारा स्कूल ट्यूशन फीस के नाम पर अन्य कई शुल्क जोड़कर फीस मांगी जा रही है। इसलिए पिछले 3 वर्षों में ली गई टयूशन फीस का रिकार्ड सर्वजानिक किया जाए और जो फीस 3 साला (ट्यूशन फीस) जो सबसे कम हो उस फीस के आधार पर वर्तमन ट्यूशन फीस निर्धारित करें।

प्राइवेट स्कूल से मांगा पिछले तीन साल का लेखा जोखा, सामाजिक कार्यकर्ता ने लिखा पत्र

वर्तमान में कोविड-19 लॉकडाउन के कारण पालकगण भयभीत है। पालक अशासकीय संस्थाओं में कार्यरत होने से उनकी आमदनी भी प्रभावित हो गई है अथवा कईयों की आमदनीआना बंद हो गई है। ऐसी स्थिति में विशेषाधिकारों का उपयोग करते हुये अशासकीय सीबीएसई स्कूल जो प्रदेश में संचालित है। उनकी ट्यूशन फीस पर लगाम लगाया जाए।