नर्मदा किनारे अधर में लटके आदिवासी परिवार, घरों में घुसा पानी, नहीं मिल रही राहत

देवास, सोमेश उपाध्याय। जिले में भारी अतिवृष्टि के कारण के कारण बागली विकासखंड के उदयनगर की ग्राम पंचायत देवझिरी (धाराजी ) में भी जल स्तर बढ़ने से कई किसानों की फसल डूबी गई। वहीं ग्राम पंचायत के गवाड़ी, नयापुरा धाराजी के रास्तों में पानी का लेवल बढ़ जाने से जलभराव की स्थिति निर्मित हुई है।

धाराजी में 9 परिवार के लोगो ने एनएचडीसी पर आरोप लगाते हुए कहा कि हमारे पूर्वज यही खप गए है, यह भूमि हमारी पैतृक भूमि है, इसके बावजूद हमें ओंकारेश्वर परियोजनाआ के बैक वाटर के डूब में नही लिया गया। बाकी सभी को डूब प्रभावित मानकर उन्हें मुआवजा दिया गया है। हम नर्मदा नदी के किनारे पर है। 9 परिवार को डूब प्रभावित नहीं मानकर एनएचडीसी ने हमारे परिवार व बच्चों को जीते जी मरणासन्न स्थिति में डाल दिया है। शासन ने इनकी जमीन भी डूब क्षेत्र में नही ली है और फसल इंदिरा सागर के गेट खोलने के कारण पानी से डूब चुकी है। ग्रामीणों का कहना है कि बैक वाटर का पानी पूरे गांव में घुस जाए पर हम यहां से नही जाएंगे। हम व हमारे बच्चे पानी के साथ भले ही बह जाए। उन्होने कहा कि हमारे साथ न्याय हो।