उपचुनाव से पहले भाजपा को बड़ा झटका, सैंकड़ों कार्यकर्ता कांग्रेस में शामिल

धार| मोहम्मद अंसार| मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में उपचुनाव (Byelection) की तैयारियों के साथ ही राजनीतिक दलों में दल-बदल का सिलसिला तेज हो गया है| भाजपा (BJP) और कांग्रेस (Congress) दूसरे दलों से आने वाले नेताओं का स्वागत कर रहे, उन्हें नई पार्टी में सदस्यता के साथ उम्मीदवारी का भरोसा भी मिल रहा है| अब तक कई बड़े नेता दल बदल चुके हैं| इस बीच धार के बदनावर में कांग्रेस ने भाजपा को बड़ा झटका दिया है| सैंड़कों भाजपा कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को कांग्रेस का हाथ थाम लिया|

धार जिले के बदनावर उपचुनाव से पहले राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं| दोनों पार्टियां अपने अपनी जीत का दावा कर रही है| तीन दिन पहले बीजेपी के राष्ट्रीय महा सचिव कैलाश विजयवर्गीय ने दौरा किया था और जीत का दावा किया| लेकिन 3 दिन बाद गाड़ी का पहिया उल्टा घूमने लगा| कांग्रेस की सभा में 400 से अधिक व 500 से कम बीजेपी के कार्यकर्ता बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए| कहीं ना कहीं बीजेपी कार्यकर्ताओं में अंदरूनी खटास होने का कारण बताया जा रहा है| कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कांतिलाल भूरिया, पूर्व गृहमंत्री बाला बच्चन एवं पूर्व पर्यटक मंत्री हनी बघेल की मौजूदगी में पार्टी में शामिल हुए कार्यकर्ताओं की क्षेत्र में खबर फैलते ही बीजेपी की चिंताएं बढ़ने लगी है|

भाजपा भी दे चुकी है झटका, रोचक हुआ मुकाबला

इससे पहले भोपाल में मंगलवार को धार जिले के बदनावर क्षेत्र के 300 से अधिक कार्यकर्ताओं को पूर्व विधायक राजवर्धन सिंह दत्तीगांव ने भाजपा में शामिल कराया। इसमें दिनेश गिरवाल का नाम भी शामिल है| बदनावर तहसील के ग्राम रूपाखेड़ा के दिनेश गिरवाल ने पिछला लोकसभा का चुनाव कांग्रेस की सीट पर लड़ा था और हार गए थे। भाजपा में शामिल होने के कारणों पर दिनेश गिरवाल ने बताया कि वे राजवर्धन सिंह दत्तीगांव की अवहेलना से नाराज होकर कांग्रेस छोड़ रहे हैं।

उपचुनाव से पहले भाजपा को बड़ा झटका, सैंकड़ों कार्यकर्ता कांग्रेस में शामिल

उपचुनाव से पहले भाजपा को बड़ा झटका, सैंकड़ों कार्यकर्ता कांग्रेस में शामिल