Dhar : तेंदुए ने ली बच्चे की जान, दो साल में मार चुका है छह मासूमों को

धार, डेस्क रिपोर्ट। धार जिले में 10 साल के एक बच्चे की जान तेंदुए ने ले ली। यह बच्चा अपने दोस्तो के साथ जानवर चराने के लिए जंगल में गया था जहां झाड़ी में छुपे तेंदुए ने उस पर हमला करके उसे मार दिया।

Indore : चील्ड मिनरल वाटर बोतल में निकले कॉकरोच, ग्राहक ने लगाए संगीन आरोप !

घटना धार जिले के अमझेरा की है जहां सोमवार को तेंदुए ने 10 साल के बच्चे की जान ले ली। राजू भील नामक यह बच्चा कुछ दिन पहले ही नाना के घर आया हुआ था और अपने दोस्तों के साथ जानवरों को चराने के लिए घर से दो किलोमीटर दूर भेरूघाट जंगल में गया था। वह जानवरों को देख ही रहा था कि तभी झाड़ियों में छिपे हुए आदमखोर तेंदुए ने उस पर हमला किया और उसे दबोच कर अंदर ले गया। साथ के बच्चों ने यह मंजर देखा तो वह घबराकर तेजी के साथ गांव की ओर भागे और परिजनों को पूरी घटना बताई। लेकिन परिजन जब तक पहुंचते, बच्चे की क्षत-विक्षत लाश ही वहां पर मिली। बताया गया है कि तेंदुआ शव को अपने साथ लेना जाना चाहता था लेकिन कुछ लोगों के शोर मचाने पर वह शव को छोड़ कर भाग गया।

बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए धार जिला चिकित्सालय भेजा गया है। तेंदुए के द्वारा बच्चों की जान ली जाने की यह दो साल में छठवीं घटना है। सभी बच्चे 15 साल से कम उम्र के थे। दरअसल भेरूघाट का दस किलोमीटर का जंगल काफी घना है और यहां कई प्रकार के जानवरों का निवास है। वन विभाग ने इस घटना की सूचना के बाद तेंदुए को पकड़ने के लिए टीम मौके पर भेज दी है। इसके लिए इंदौर से स्पेशल टीम बुलाई गई है क्योंकि बताया गया है कि तेंदुआ आदमखोर हो चुका है। अब तक तेंदुआ धौला हनुमान, हाथी पावा, केशवी, नयापुरा और अमझेरा के बच्चों की जान ले चुका है।