जयदीप कंपनी ने 2 महिने का पेमेंट रोका, मजदूरों ने की हड़ताल

धार। मोहम्मद अंसारपीथमपुर, औद्योगिक क्षेत्र मैं उद्योगों में काम करने वाले श्रमिक लॉक डाउन के समय की सैलरी के लिए अब श्रम कार्यालय के चक्कर काट रहे हैं। आज बड़ी संख्या में इकट्ठा होकर जयदीप गिलास धागा बनाने वाली कंपनी के महिला पुरुष श्रमिक श्रम कार्यालय परपहुंचे और जमकर नारेबाजी की, मैनेजमेंट मुर्दाबाद के नारे लगाए, जबकि केंद्र सरकार के आदेश थे की लॉक डाउन के दौरान बंद पड़े उद्योग अपने -अपने श्रमिकों को घर बैठे सैलरी दे लेकिन वहीं दूसरी और उद्योगपति केंद्र सरकार के इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए हैं, जिसके कारण अप्रैल माह की सैलरी श्रमिकों की अटक गई है।वही श्रमिक भी अब आर-पार की लड़ाई के मूड में नजर आ रहे हैं, बीते 2 दिनों में 2 कंपनियों के बड़ी तादाद में श्रमिक, श्रम कार्यालय पर मैनेजमेंट मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए ज्ञापन देने पहुंचे ओर सैलरी न मिलने शिकायत दर्ज कराई। वही श्रमिकों सैलरी समस्या को सुनने के लिए औद्योगिक क्षेत्र पीथमपुर के विकास भवन पर सहायक उप संचालक स्वास्थ्य सुरक्षा अधिकारी राजेश यादव ऑफिस पर मौजूद नहीं थे, श्रमिकों द्वारा फोन पर चर्चा की गई तो उन्होंने शिकायत व्हाट्सएप करने के लिए कहा। अमूमन फोन पर ही नौकरी करते नजर आते हैं। हमने मौके पर जाकर जब पड़ताल की तो ऑफिस पर मौजूद नहीं।