Dhar News : दिग्विजय सिंह का पलटवार, सिंधिया के लिए भी कही ये बड़ी बात

दिग्विजय ने कहा कि हमारी चुनी हुई सरकार जाने का मुझे पछतावा है हमें ये उम्मीद कभी नहीं थी कि सिंधिया जी छोड़कर चले जायेंगे, मैं ही उनके पिताजी को कांग्रेस में लाया था, पार्टी ने उन्हें भी हर तरह से सम्मान दिया,  हम तो उन्हें महाराज कहते थे पर अब वे भाजपा भाईसाहब हो गए हैं।

Dhar News :  मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह ने उनके खिलाफ मानहानि के एक मामले में आरोप तय होने के बाद पलटवार किया है, उन्होंने कहा कि भाजपा को निशाने पर लेते हुए कहा कि आरोप लगाया मेरा अधिकार है और मैं जो बोलता हूँ सोच समझ कर बोलता हूँ।

विधानसभा चुनावों के लिए पार्टी को मजबूत करने में जुटे पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह आज धार जिले के बदनावर पहुंचे उन्होंने यहाँ ममंडल एवं सेक्टर कार्यकर्ताओं की बैठक ली और उन्हें कांग्रेस की कमल नाथ सरकार की उपलब्धियां और भाजपा की शिवराज सरकार की नाकामियां जनता तक पहुंचाने के लिया कहा, उन्होंने कहा कि जनता बदलाव का मन बना चुकी है और हमें उसके इस विश्वास को बनाये रखना है।

मैं जो बोलता हूँ सोच समझकर ही बोलता हूँ : दिग्विजय 

पत्रकारो से चर्चा करते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि मेरे खिलाफ सात साल पुराने बयान पर मान हानि के केस आरोप तय हुए हैं, आरोप लगाना मेरा अधिकार है और व्यापम, डीमेट की परीक्षा में जो मेरे पास जानकारी थी और आज तक, द वायर की रिपोर्ट है मैंने उसी आधार पर आरोप लगाये। मैं जो बोलता हूँ सोच समझकर ही बोलता हूँ।

लोकतंत्र में चुप कराने का काम तो डिक्टेटर करता है

लेकिन जब वो मुझे राष्ट्र द्रोही कहते पाकिस्तानी कहते हैं तो आप इसे क्या कहेंगे, मैं अब उन्हें कठघरे में खड़ा करूँगा, दिग्विजय सिंह ने कहा कि पुलवामा अटैक पर मैंने जो कहा आज वो उनके ही द्वारा नियुक्त तत्कालीन राज्यपाल कह रहे हैं लेकिन उनसे चुप रहने के लिए कह दिया गया, अडानी पर चुप हैं, लोकतंत्र में चुप कराने का काम तो डिक्टेटर करता है।

आज देश की महिला पहलवानों की आवाज कोई नहीं सुन रहा 

राज्य सभा सांसद ने कहा कि देश की महिला पहलवान दिल्ली में लम्बे समय से यौन शोषण के खिलाफ आवाज उठा रही है लेकिन उनकी कोई नहीं सुन रहा है क्योंकि वो भाजपा सांसद के खिलाफ शिकायत कर रही हैं,  बुधवार को धार में पूजा चौहान  की हत्या पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि यह हत्या प्रशासन के निकम्मेपन के कारण हुई है।

सिंधिया पर चुटकी, “हम तो महाराज बुलाते थे अब वे भाईसाहब हो गए हैं”

दिग्विजय ने कहा कि हमारी चुनी हुई सरकार जाने का मुझे पछतावा है हमें ये उम्मीद कभी नहीं थी कि सिंधिया जी छोड़कर चले जायेंगे, मैं ही उनके पिताजी को कांग्रेस में लाया था, पार्टी ने उन्हें भी हर तरह से सम्मान दिया,  हम तो उन्हें महाराज कहते थे पर अब वे भाजपा भाईसाहब हो गए हैं।

 

धार से मो. अल्ताफ़ की रिपोर्ट