अवैध शराब की पेटियों से भरा ट्रक पकड़ाया, लाखों में कीमत

धार।मोहम्मद अंसार।

धार जिले के धामनोद में रविवार को नगर के खलघाट बायपास स्थित चैराहे से अवैध शराब भरकर ले रहे ट्रक को मुखबीर की सूचना के बाद पुलिस ने पकड़ा। जाँच करने पर पुलिस ने जब उसमें देखा तो पुलिस की आँखें फटी की फटी रह गई। इतनी बड़ी मात्रा में अवैध शराब का परिवहन बिना किसी राजनैतिक मदद और शराब माफियाओं की दबंगता के बगैर संभव नहीं हो सकता है। इसके पहले भी आबकारी विभाग धरमपुरी द्वारा मुखबीर की सूचना के बाद ही एक कंटेनर को पकड़ा था, जिसमें अवैध शराब भरी हुई थी जो पड़ोसी राज्य गुजरात पहुँचाई जा रही थी।

मिली जानकारी के अनुसार पुलिस को शनिवार की रात में ही मुखबीर ने सूचना दी थी कि देर रात्रि में अवैध रुप से शराब लेकर ट्रक क्रमांक पीबी 06 एवी 3475 इन्दौर की ओर से महाराष्ट्र की ओर जा रही है। धामनोद के समीप फुटी तीराहे बायपास देर रात से आँखें गढाये बैठी पुलिस को अल सुबह कामयाबी मिली और ट्रक को आता देख उसे रोका। वाहन से चालक इस्तिहाक पिता मोहम्मद हारुन निवासी पालघर (महाराष्ट्र) को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुछताछ करने पर उसके पास इस अवैध शराब के परिवहन संबंधी कोई भी दस्तावेज नहीं पाये गये। जब पुलिस आरोपी सहित ट्रक को थाने लाई तो उसकी तिरपाल खोलने के बाद पुलिस की आँखें फटी की फटी रह गई। पहले तो पुलिस को शक था कि शराब कम मात्रा में होकर दुसरा सामान होगा। मगर जब इसे खाली कराया गया तो पुरी ट्रक ही शराब की पेटियों से भरी पाई गई। ट्रक खाली कराने के दौरान इन शराब माफियाओं की चालाकी भी सामने आई। शराब से भरा वाहन कहीं भी खड़ा रहे परन्तु उसमें से शराब की गन्ध किसी को ना आ सके इसके लिए माफियाओं ने शराब की पेटियों को ट्रक में जमाने के दौरान फिलाईन का पाउडर भी बीच बीच में डाल रखा था जिससे उसमें से केवल फिलाईन की गन्ध ही आती रहे और शराब आसानी से निकल जावे।

हाईवे से निकती है ट्रकें –
राष्ट्रीय राजमार्ग नम्बर 3 होने के कारण यहाँ से रोजाना हजारों ट्रक गुजरते हैं परन्तु हर ट्रक की जाँच कर पाना पुलिस के बस की बात नहीं है। पुलिस को तो बस मुखबीर की सूचना के बाद ही ऐसे ट्रकों को रोकना होता है जिसमें दो नम्बर का माल या अवैध रुप से शराब, गौ वंश आदि का परिवहन किया जाता रहा हो। पुलिस तो केवल मुखबीर के इशारों पर ही काम करती है। जबकि इस मार्ग से कई बड़ी अवैध सामानों की सप्लाई भी रात के अंधेरे में चलती रहती है।
दिन भर लगा पेटियाँ खाली कराने में –
सुबह से पकड़े शराब वाहन को खाली कराकर थाना परिसर में बने गोदाम में रखवाने में पुलिस को पुरा दिन लग गया। बताया जा रहा है कि इस ट्रक के अन्दर से एक ही ब्राण्ड की अंग्रेजी शराब की पेटिया मिली है। जिनकी यूँ तो संख्या करीब 1100 पेटी बताई जा रही है। इनमें 400 पेटियों के क्वाटरों पर क्रेजी रोमियो विस्की का लेबल लगा हुआ है, बाकि की पेटियों पर कोई लेबल नहीं लगा हुआ है। परन्तु बगैर लेबल वाली शराब उसी तरह की है।

अभी पुछताछ बाकी –
अवैध शराब को लेकर जा रहे चालक से अभी पुरी तरह से पुछताछ होना बाकी है। पुलिस पुछताछ के बाद और भी कई बड़े खुलासे होने की संभावनाएँ लग रहे हैं। आखिर बिना लेबल लगी शराब क्यों भेजी जा रही थी। क्या शराब माफिया अपने ब्रांड और अपनी किमत में बेचने के लिए बगैर लेबल लगी शराब बुलाते है। शराब कहाँ से कहाँ लेकर जाना थी।
– दिलीपसिंह चौधरी, थाना प्रभारी धामनोद।