नागरिकता कानून पर बोले वन मंत्री, ‘पहले पीएम मोदी और शाह दिखाएं कागज़’

धार। मोहम्मद अंसार।

धार जिले गंधवानी में गौशाला के उद्घाटन के दौरान वन मंत्री उमंग सिंगार ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने सीएए और एनआरसी को लेकर पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मोदी-शाह पहले बताएं कि उनके पास क्या प्रमाण हैं। फिर वह जनता से सवाल करें कि वह कितने साल से यहां हैं।

आदिवासी नेता झारखंड प्रभारी वन मंत्री उमंग सिंगार ने एक बड़ा बयान दिया है। धार जिले के गंधवानी के पास काबारवा गांव में गौशाला का उद्घाटन समारोह शामिल हुए वन मंत्री उमंग सिंगार ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री अमित शाह दोनों जनता को बताएं 1951 से पहले के उनके दादा परदादा के दस्तावेज के प्रमाण है कि नहीं। उसके बाद देश की जनता से पूछें कि तुम्हारे दस्तावेज प्रमाण हैं कि नहीं। जब भारत सरकार ने आधार कार्ड को मान्यता दी है तो फिर सीएए-एनआरसी लाकर जनता को भ्रमित क्यों किया जा रहा है। मोदी जी जनता के सामने कह रहे हैं एनआरसी लागू नहीं होगी और अमित शाह लोकसभा में कह रहे हैं सीएए-एनआरसी दोनों लागू होंगे। जब दोनों में आपस में एक नहीं है। स्वभाविक है इनमें ही मनमुटाव हैं।