धार। राजेश डाबी।

शरणार्थी और घुसपैठियों में अंतर समझना होगा। सीएए में शरणार्थी और एनपीआर में घुसपैठियों का मामला है, इसे जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए। जबकि हम मानवीय पहलू देखकर सबकी मदद करना चाहते हैं। इसके पहले भी कानून में संशोधन होते रहे हैं, लेकिन प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का नाम आते ही विरोध शुरू हो जाता है, क्योंकि मोदी सरकार के फैसलों से विपक्षी दलों के वोट बैंक की दुकानें बंद हो रही हैं।

नागरिकता संशोधन कानून में मुस्लिमों का उल्लेख ही नहीं है, तो यह दर्द मुस्लिमों की बजाय राहुल गांधी को क्यों हो रहा है ? कांग्रेस और वामपंथी दल अपने वोट बैंक की खातिर देश की जनता में जहर घोलने का काम कर रहे हैं। यह बात भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने धार में जन जागरण अभियान के अंतर्गत आयोजित नागरिकता संशोधन कानून जानकारी देते हुए प्रबुद्ध जन संगोष्ठी में कहीं। कार्यक्रम में प्रदेश उपाध्यक्ष सुश्री उषा ठाकुर व श्रीमती रंजना बघेल, जिलाध्यक्ष राज बर्फा, विधायक श्रीमती नीना वर्मा,पूर्व सांसद सावित्री ठाकुर, पूर्व विधायक खेमराज पाटीदार, कालू सिंह ठाकुर, वेल सिंह भूरिया, महामंत्री उमेश गुप्ता व मनोज सोमानी,सँभागीय सह मीडिया प्रभारी ज्ञानेंद्र त्रिपाठी मंचासीन थे।

श्री सिंह ने कहा कि एनआरसी के विषय से भारत के लोगों का कोई लेना देना नहीं है, बांग्लादेश से आये घुसपैठियों से आसाम की संस्कृति को खतरा था, वहाँ राजनैतिक परिदृश्य को खतरा था। आसाम के लोग भी चाहते थे कि घुसपैठियों को बहार करो और आसाम को बचाओ। इसलिए वहां पर एनआरसी लाया गया। नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करने वालों को देश को यह बताना चाहिए कि अगर यह पीड़ित शरणार्थी भारत में शरण नहीं लेंगे या भारत इन्हें नागरिकता नहीं देगा तो दुनिया में कौन सा ऐसा देश है, जो इन्हें नागरिकता देने के लिए तैयार होगा। यह कानून किसी की नागरिकता छीनने के लिये नहीं बल्कि नागरिकता देने के लिये बनाया गया है। हिन्दूस्तान में रहने वाले किसी भी समुदाय, धर्म, जाति, पंथ के लोगों की नागरिकता पर इसका कोई असर नहीं होगा। 

कांग्रेस के बहकावे में नहीं आने वाले नागरिक – श्री वर्मा

पूर्व केंद्रीय मंत्री श्री विक्रम वर्मा ने कहा कि कांग्रेस ने विपक्षी दलों के साथ मिलकर वोटबैंक और तुष्टीकरण की राजनीति प्रारंभ की है। सीएए का दुष्प्रचार कर कांग्रेस ने देश के मुस्लिम और हिन्दू भाईयों के बीच दीवार बनाने का अभियान शुरू किया है। लेकिन भारतीय जनता पार्टी जनजागरण अभियान के माध्यम से नागरिकता संशोधन कानून की सच्चाई नागरिकों तक पहुंचाने का काम कर रही है। पार्टी कार्यकर्ता के साथ ही देश के जागरूक नागरिक भी इस अभियान का हिस्सा बन रहे है। कार्यक्रम के प्रारंभ में पूर्व धार नगर अध्यक्ष अनिल जैन बाबा, नगर अध्यक्ष द्वय विपिन राठौर व नितेशअग्रवाल आदि पदाधिकारी ने किया। कार्यक्रम का संचालन कन्हैया लाल यादव एवं आभार डॉ शरद विजयवर्गीय ने माना। संगोष्ठी में बडी संख्या में प्रबुद्धजन शामिल हुए।