धार। धार जिले में पूर्व विधायक कालू सिंह ठाकुर द्वारा उनके कार्यकाल में बनवाए गए यात्री प्रतिक्षालयों पर कार्रवाई के विरोध में तीन दिन तक भूख हड़ताल पर बैठे थे। वे 10 घंटे के भीतर ही हड़ताल समापत करके घर चले गए। रात को जब मच्छरों ने काटा तो कार में जाकर सो गए और जब भूख लगी तो घर पहुंच गए। पूर्व विधायक का अनशन चर्चा में बना हुआ है। 

हालांकि खुद कि किरकिरी होने से बचने के लिए उन्होंने दलील दी कि कलेक्टर से मुलाकात हो गई। कलेक्टर ने  उचित कार्रवाई का भरोसा दिलाया गया है, जिस कारण से धरना समाप्त कर दिया गया है। दरअसल, विधायक निधि से अपने ही स्कूल में यात्री प्रतिक्षालय मामले में प्रशासन की कार्रवाई से पूर्व विधायक नाराज थे।