शादी करने अकेले ही निकल पड़ी युवती, पुलिस ने की पूछताछ फिर कराई शादी

धार/मोहम्मद अंसार

देश मे कोरोना महामारी का प्रभाव सभी ओर देखने को मिल रहा है। शादियों पर भी इसका गहरा असर हुआ है। कई शादियां पहले से तय हैं जाती है लेकिन लॉक डाउन में पाबंदियों के चलते कई शादियां निरस्त हो गई तो कई बेरंग नज़र आई। इसी बीच धार से एक अनोखी शादी की तस्वीर सामने आई जिसमें बाराती ओर साक्षी नोगांव थाना बना।

धार शहर की सकतली की रहने वाली पूनम और औसरुद के रहने वाले कपिल की शादी पहले से तय हो चुकी थी, लेकिन कोरोना के कहर में शादी के दिन खींचते चले गए। परिवार की उम्मीद भी खत्म होती चली गई। पहले दोनों परिवार को लगा था कि लॉकडाउन जल्दी खत्म हो जाएगा लेकिन डाउन की तारीख फिर बढ़ गई। ऐसे में शादी नहीं होने से दोनों परिवार परेशान हो गए। इसके बाद रविवार रात पूनम अकेली ही शादी करने के लिए घर से निकल पड़ी। नौगांव थाना पुलिस का चेकिंग प्वाइंट लगा हुआ था, पुलिस ने अकेली युवती को देख रोका और उससे पूछताछ की तो पूनम ने बताया कि उसकी शादी होना है और वो शादी करने के लिए और औसरुद के लिए निकल रही है। इसके बाद पुलिस ने आगे बढ़कर अपना फर्ज निभाया और टीआई युवराज सिंह चौहान ने इंसानियत दिखाते हुए लड़की और लड़के पक्ष के 2-2 लोगों को थाने बुलवाया। फिर टीआई युवराज सिंह चौहान ने अपने सामने ही वर वधु की शादी करवाई, इस अनोखी शादी में पूरा नौगांव थाना बाराती बना और हंसी खुशी पूनम और कपिल की शादी हुई।

शादी में सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए लकड़ी से वर वधु ने एक दूसरे को वरमाला पहनाई और लोगों ने खड़े होकर तालियां बजाई। इस अनोखी शादी में पुलिस वालों का एक और रूप भी देखने को मिला। एक और जहां पुलिसकर्मी दिन रात लॉक डाउन में लोगों की मदद कर रहे हैं तो वहीं पूनम ओर कपिल की शादी करवा कर पुण्य का काम भी किया। उसके लिए भगवान बन कर सामने आई और पुलिस ने उसकी शादी करवाई वर वधु ने पुलिसकर्मियों का धन्यवाद दिया और उनसे आशीर्वाद लेकर अपनी नई जिंदगी शुरू की।