Dhar News: धार में तेंदुए के शावक को बिल्ली का बच्चा समझकर गोद में उठाया, पढ़ें पूरी खबर

धार (Dhar News) में तेंदुए के दो शावक मिलने से हडकंप मच गया। वन विभाग की टीम मांडू के जंगलों में लगातार सर्चिंग करके तेंदुए पर नजरे बनाये हुए है।

Dhar News : मध्य प्रदेश के विश्व प्रसिद्ध पर्यटक स्थल मांडव धार में तेंदुए के दो शावक मिलने से हडकंप मच गया। हालांकि, वन विभाग की टीम की देखरेख में ये बच्चे फिर से इनकी माँ मादा तेंदुए के साथ चले गए।

बिल्ली का बच्चा समझकर गोद में उठाया

दरअसल, मांडू के रानी रुपमति इलाके में पहाडी क्षेत्र में कुछ लोग और बच्चे बकरियां चरा रहे थे, इसी दौरान लोगों और बच्चों ने तेंदुए के दो शावक देखें। जिसके बाद उसे बिल्ली का बच्चा समझकर इन लोगों ने शावकों को अपने हाथों में उठा लिया और मोबाइल से फोटो वीडियो बनाने लगे लेकिन जैसे ही मोबाइल का फ्लैश चमका तो ये दोनों शावक गुर्राने लगे। इसके बाद ये लोग समझ गये कि ये बिल्ली के बच्चे नहीं बल्कि तेंदुए के शावक है।

वन विभाग को दी गई सूचना

इस घटना के बाद लोगों ने तत्काल इसकी सूचना वन विभाग को दी। वहीं, वन विभाग की टीम ने मौके पर पहुंचकर दोनों शावको को उसी पहाड़ी इलाके में छोड़ दिया जहां से ये मिले थे। साथ ही, इस इलाके में लोगों की आवाजाही भी बंद करवा दी गई है और इसके बाद वन विभाग की टीम ने इस पूरे इलाके में नजरे बनाये रखे।

मांडू के जंगलों की हो रही निगरानी

सुबह जब टीम फिर से इस इलाके में पहुँची तो तेंदुए के शावक वहां नही थे। अब वन विभाग की टीम ये दावा कर रही है कि तेंदुए के शावकों को उनकी मां यानि की मादा तेंदुआ यहाँ से लेकर अंदर घने जंगल मे चली गई है। बता दे इन बच्चों की उम्र करीब एक माह है। बता दे तेंदुए इस इलाके में लगातार देखें जाते है और यहां से मिले शावकों को वन विभाग की टीम ने इनकी मां से मिलवा दिया है। वहीं, वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि उनकी टीम मांडू के जंगलों में लगातार सर्चिंग करके तेंदुए पर नजरे बनाये हुए है।

एसडीओ ने मामले में दिया बयान

मामले को लेकर एसडीओ एस के रणशौरे ने बताया कि, वहां पर तेंदुए के दो शावकों के मिलने की सूचना मिली। सूचना मिलने पर वन अमले को वहां भेजा गया। प्राप्त सूचना के आनुसार, उनकी माता शावकों को सुरक्षित ले जा चुकी है। उस स्थान से पलायन कर गए वन विभाग का अमला अभी भी वहां तैनात है।

धार से मो अल्ताफ़ की रिपोर्ट