जब नाचते गाते अंतिम विदाई में शामिल हुए आदिवासी, जिसने देखा यह नज़ारा, रह गया हैरान

जिले के तिरला क्षेत्र के ग्राम भुवादा में 100 साल के बुज़ुर्ग जाम सिंह भंवर का निधन हो गया, जब उन्हें अंतिम विदाई दी जाने लगी तो आदिवासियों ने उन्हें नाचते गाते हुए विदा किया।

धार, डेस्क रिपोर्ट। धार जिले के आदिवासी बाहुल्य इलाके भुवादा गाँव का एक वीडियो वायरल हो रहा है, वीडियो जिसने भी देखा हैरान रह गया, दरअसल इस वीडियो में आदिवासी जमकर डांस कर रहे है, लेकिन नृत्य का यह मौका शादी या फिर किसी समारोह का नही बल्कि अंतिम संस्कार के लिए ले जाये जा रहे एक शव की अंतिम यात्रा का है।

यह भी पढ़े.. मुरैना : शासकीय उचित मूल्य दुकान मामचौन के विक्रेता के खिलाफ एफ.आई.आर. दर्ज

बताया जा रहा है कि जिले के तिरला क्षेत्र के ग्राम भुवादा में 100 साल के बुज़ुर्ग जाम सिंह भंवर का निधन हो गया, जब उन्हें अंतिम विदाई दी जाने लगी तो आदिवासियों ने उन्हें नाचते गाते हुए विदा किया। कहा जाता है कि इस गांव में जब इतनी उम्र में किसी बुजुर्ग की मौत होती है तो उसे इसी तरह आदिवासी परम्परा के अनुसार नाचते गाते विदाई दी जाती है। शव यात्रा में मृदंग, झांज, ढोल और फेफरे के साथ आदिवासियों का झूमते हुए यह वीडियो सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा है।