हाथरस मामले में जिला कांग्रेस ने सौंपा राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन

राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के साथ हुए बर्ताव पर भी जताया रोष

डिंडोरी, प्रकाश मिश्रा। हाथरस में नाबालिक बालिका के साथ हुए क्रूरतापूर्ण व्यवहार और उत्तर प्रदेश सरकार की बेरुखी तथा पुलिस कर्मियों के तानाशाहीपूर्ण रवैये के विरोध में जिला कांग्रेस कमेटी ने एसडीएम को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा। उन्होने आरोपियों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष वीरेंद्र बिहारी शुक्ला के नेतृत्व में राष्ट्रपति के नाम सौंपे गए ज्ञापन में कहा है कि हाथरस में हुई घटना बर्बरता पूर्ण है और इसने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है। नाबालिक के साथ अमानवीय व्यवहार से सभी आहत हैं। इस मामले में उत्तर प्रदेश सरकार एवं पुलिस को जहां पीड़ित परिवार के साथ सहानुभूति दिखाना था, लेकिन पुलिस के द्वारा तानाशाहीपूर्ण रवैया अपनाकर परिवार की सहमति के बिना ही पीड़िता का अंतिम संस्कार कर दिया गया। जिला कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश की सरकार पर जानबूझकर अंधी और गूंगी बनी रहने का आरोप लगाया है और ज्ञापन के माध्यम से कहा कि पूरे मामले में यूपी सरकार की असंवेदनशीलता साफ तौर पर उजागर होती है। पीड़ित परिवार के प्रति संवेदनाएं एवं सहानुभूति प्रकट करने गए राहुल गांधी व प्रियंका गांधी के साथ यूपी पुलिस  द्वारा की गई धक्का मुक्की तथा गैर कानूनी ढंग से गिरफ्तारी करने का भी जिला कांग्रेस कमेटी ने विरोध किया है।

राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपते हुए जिला कांग्रेस कमेटी ने यूपी सरकार को बर्खास्त करने तथा दोषी पुलिस कर्मचारियों पर अपराधिक मामला दर्ज करने की मांग की है। इस दौरान पूर्व नगर कांग्रेस अध्यक्ष लक्ष्मीकांत तिवारी, जिला कांग्रेस महामंत्री बृजेंद्र दीक्षित, जिला कांग्रेस कमेटी उपाध्यक्ष आलोक शर्मा, जिला महामंत्री अकील अहमद सिद्धकी, जिला संगठन मंत्री प्रकाश मिश्रा, जिला संगठन मंत्री गिरवर सिंह, भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन के अध्यक्ष तकाज अहमद मंसूरी सहित कांग्रेस के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।