लापरवाह डाक्टर पर होगी कार्यवाही, कलेक्टर ने मासूम के इलाज के लिये दिये निर्देश

डिंडोरी| प्रकाश मिश्रा| डिण्डोरी जिले के डांडविदयपुर के 8 वर्षीय मासूम का इलाज जिला अस्पताल में हुआ था । मासूम साइकल चलाते हुए गिर गया था जिसे परिजनों ने जिला अस्पताल लेकर पहुचे जंहा मासूम के हाथ में 2 जून को प्लास्टर बांधा गया थाऔर एक माह बाद 2 जुलाई को मासूम के हाथ का प्लास्टर खोला गया तो मासूम का हाथ सीधे होने की बजाय तिरछा निकला । परिजनों ने मामले की लिखित शिकायत कोतवाली पुलिस डिंडोरी में की थी जहां डॉक्टर के द्वारा दुर्व्यवहार करने व धमकी भरे लहजे में दुत्कार कर भगा दिए जाने का आरोप लगाया था साथ ही संबंधित डॉक्टर पर उचित कार्यवाही कर न्याय दिलाने की मांग की थी।

खबर को संज्ञान में लेकर कलेक्टर बी कार्तिकेयन ने मासूम के इलाज के लिए जिला अस्पताल के सीएमएचओ को निर्देशित किया जंहा तुरंत ही मासूम के इलाज के लिए सीएमएचओ डॉक्टर आर के मेहरा ने जबलपुर के जामदार अस्पताल में बात की ओर मासूम के परिजनों को वहाँ पहुचा कर इलाज करवाने का आश्वाशन दिया । मासूम के इलाज में होने वाले खर्च का वहन राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के द्वारा किये जाने की बात कही।

डॉक्टर ने आरोपों को बताया निराधार
परिजनों द्वारा की गई शिकायत के संबंध पर जब डॉक्टर अजय राज से चर्चा की गई तो उन्होंने आरोपों को निराधार बताया। डॉक्टर अजय राज ने हमारे प्रतिनिधि से चर्चा करते हुए कहा कि जिस दिन प्लास्टर बांधे जाने की बात कही गई है मैं उस समय कोरोना ड्यूटी पर था ना तो मेरे द्वारा बच्चे का इलाज किया गया है ना एक्स-रे करवाया गया है और ना ही प्लास्टर बांधा गया है।

वही शिकायत के संबंध में जिले के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने कहा कि कोतवाली में शिकायत संबंधित डॉक्टर के खिलाफ प्राप्त हुई है । अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विबेक लाल ने कहा कि पूरी जांच की जाएगी जो भी तथ्य सामने आते है उस पर कार्यवाही की जाएगी ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here