डिंडोरी, प्रकाश मिश्रा| अनुसूचित जाति जनजाति अधिकारी एवं कर्मचारी संघ अजाक्स ने देश में हो रहे महत्वपूर्ण संस्थानों जैसे रेलवे, पेट्रोलियम कंपनियां ,बैंक, एयरपोर्ट सहित अन्य व्यवसायिक संस्थानों के निजी करण का विरोध करते हुए देश के प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन डिंडोरी एसडीएम महेश मंडलोई को सौंपा। अजाक्स की जिला इकाई के अध्यक्ष मधु गवले के नेतृत्व में जिले के अन्य क्षेत्रों से आए पदाधिकारियों के साथ जिला कलेक्ट्रेट पहुंचकर एडीएम को ज्ञापन सौंपते हुए निजीकरण के प्रस्ताव को तत्काल वापस लेते हुए किसी भी परिस्थिति में निजी करण को लागू न करने की मांग की है ।

संघ ने अपने ज्ञापन के माध्यम से कहा है कि निजीकरण का यह कदम देश को गर्त में ले जा सकता है इससे आम आदमी का जीना दूभर हो जाएगा साथ ही रेलवे के किराए आसमान छूने लगेंगे ,पेट्रोलियम पदार्थों की कीमत तेजी से बढ़ेगी, आम आदमी का शोषण होगा और देश की आर्थिक बागडोर निजी हाथों में चली जाएगी ।

प्रधानमंत्री के नाम दिए ज्ञापन में अजाक्स ने कहां है कि रेलवे, पेट्रोलियम कंपनी, बैंक ,एयरपोर्ट जैसे महत्वपूर्ण संस्थाओं का निजीकरण ना किया जाए इसमें जनता की गाढ़ी कमाई लगी हुई है और इसका सीधा और सबसे ज्यादा नुकसान अनुसूचित जाति जनजाति अन्य पिछड़ा वर्गों को नौकरी में होगा। इसके साथ ही निजीकरण उनके विकास की सबसे बड़ी बाधा होगी। संघ ने अनुसूचित जाति ,जनजाति अन्य पिछड़ा वर्ग एवं देश के लिए निजी करण को अहितकारी बताते हुए इस प्रस्ताव को तत्काल वापस लेने की मांग की है।