नगर पंचायत के ठेकेदार पर काम में लापरवाही के आरोप, जांच की मांग

डिंडौरी। प्रकाश मिश्रा। जिला मुख्यालय में नगर परिषद के द्वारा वार्डो में लगाए जा रहे हेड पम्पो में मनमानी करने के आरोप वार्ड के पार्षदों सहित वार्डवासियों ने लगाए है।

बता दें कि नगर पंचायत के द्वारा नगर के सभी वार्डों में पेयजल आपूर्ति के लिए नलकूपों का खनन कर हैंड पम्प लगाने का काम कराया जा रहा है विगत 3 माह बीत जाने के बाद भी ठेकेदार की मनमानी और विभागीय अधिकारियों की लापरवाही के चलते कार्य पूर्ण नहीं हो पाया जिसके कारण लोगों को पेयजल की सुविधा अभी तक नहीं मिल पाई है।

स्तर हीन सामग्री का प्रयोग
नलकूप खनन के बाद जो हैंडपंप लगाए जा रहे हैं बहुत ही हल्की क्वालिटी का है लोगों की माने तो कुछ ही महीनों में यह उपयोग के लायक नहीं रह पाएंगे वही जिस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हैंडपंपों में भारी-भरकम राशि खर्च की जा रही है वह भी पूरा होता दिखाई नहीं दे रहा है कुछ हेडपम्पो से हवा निकल रही है तो कुछ हेडपम्पो को आधे अधूरे छोड़ दिया गया है।

वार्डवासी सहित पार्षदों ने नगर पंचायत के ठेकेदार के ऊपर मनमानी करने का आरोप लगाया है। आम लोगों का कहना है कि ठेकेदार के द्वारा मनमाने जगह में हैडपम्प खोदा गया जिससे बून्द भर पानी नही निकला। वहीं वार्ड पार्षद अब खोदे गए हेडपम्पो की जाच कराने के लिए मंत्री से शिकायत करने बात कह रहे है। वही नगर पंचायत अध्यक्ष का कहना है कि ठेकेदार का आधा भुगतान किया गया है काम पूरा करने पर भुगतान किया जाएगा।

सरकारी विभाग के केसिंग पाइपों के उपयोग की चर्चा
ठेकेदार के द्वारा इन हेडपम्पो की खुदाई का काम एक निजी बोरवेल कंपनी को दिया गया है सूत्रों की मानें तो यह वहीं निजी बोरवेल कंपनी है जिसने पीएचई के सरकारी पाइपों का निजी नलकूप खनन में उपयोग कर मोटी रकम कमाई है। एक बार फिर नगर परिषद के हैंडपंपों में भी सरकारी विभाग के केसिंग पाइपों का प्रयोग कर शासन को चुना लगाए जाने की बात सामने आ रही है।जो जांच का विषय है।