डिंडोरी में चोरों का बड़ा कारनामा, JCB ही कर डाली चोरी

जेसीबी मशीन को मास्टर चाबी से लॉक खोल कर चुराकर कटिंग करवाने की तैयारी चोरों ने कर डाली। हालांकि चोरों की यह योजना सफल नहीं हो सकी बीच रास्ते में ही जेसीबी मशीन को ठिकाने लगाने से पहले ही पुलिस के हत्थे चढ़ गए।

 

Dindori Jcb Theft : डिंडोरी में चोरों के हौसले इस कदर बुलंद है कि अब छोटी मोटी चोरियों को छोड़कर बड़े बड़े वाहनों पर हाथ साफ करने में आमदा हो चुके हैं। डिंडोरी जिले के जनपद मुख्यालय समनापुर में पिछले दिनों घर के सामने रखी मिक्सर मशीन पर चोरों ने हाथ साफ कर दिया था।अब एक नया मामला सामने आया है जहां 14 जनवरी को जेसीबी मशीन को मास्टर चाबी से लॉक खोल कर चुराकर कटिंग करवाने की तैयारी चोरों ने कर डाली। हालांकि चोरों की यह योजना सफल नहीं हो सकी बीच रास्ते में ही जेसीबी मशीन को ठिकाने लगाने से पहले ही पुलिस के हत्थे चढ़ गए।

पुलिस अधीक्षक ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि हवन राजपूत की जेसीबी मशीन क्रमांक एम 51 डी ए 0311 जिसे बबलू सिंह नामक व्यक्ति चला रहा था 13 तारीख को लेवलिंग का काम करने के लिए मशीन लेकर देर शाम समनापुर पहुंचा जहां मशीन को खड़ी कर शिवांजल लाज में रुक गया। जेसीबी के चालक बबलू के बताए अनुसार सुबह जब उठकर देखा तो जेसीबी मशीन मौके पर मौजूद नहीं की जिससे आसपास काफी तलाश किया और मशीन चोरी होने की सूचना वाहन मालिक को दी जिसके बाद समनापुर थाने में जेसीबी मशीन चोरी होने की गुमशुदगी दर्ज कराई।

पतासाजी करने पुलिस अधीक्षक ने की एस आई टी गठित

घटना के बाद पुलिस अधीक्षक संजय सिंह ने एस आई टी गठित कर मामले की पतासाजी करने के निर्देश दिए। पुलिस को सूत्रों से जानकारी मिली एक जेसीबी मशीन पड़रिया छत्तीसगढ़ की ओर गई है सूचना के आधार पर छत्तीसगढ़ पुलिस की मदद से घेरा बंदी कर ग्राम बीरनपुर थाना लोहारा जिला कवर्धा के हनुमान मंदिर के पास जेसीबी मशीन खड़ी पाई साथ में एक वैगनआर कार भी थी जो आरोपियों को फॉलो कर रही थी जिसे पकड़ा। पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार चोरी के मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है जिसमें एक आरोपी वसीम खान पिता मुशीर खान उम्र 25 वर्ष निवासी रायपुर एवं दूसरा आरोपी रमाशंकर गुप्ता पिता भूरे लाल गुप्ता उम्र 45 वर्ष निवासी रायपुर छत्तीसगढ़ बताया जा रहा है ।आरोपियों से मिली जानकारी के अनुसार नूर एसोसिएट नामक एजेंसी में किस्त ना चुकाने वाले वाहनों को खींचने का काम करते हैं जिसके लिए कंपनी की ओर से पैसे दिए जाते हैं। आरोपियों ने बताया कि हवन राजपूत की जेसीबी को भी चोरी कर काटने की योजना बनाई गई थी जिसे समनापुर में भूमि समतलीकरण कराने के बहाने शिवांजल लाज में बुलाया गया था । आरोपियों ने बताया कि योजना के अनुसार दोनों को सोते समय कमरे का दरवाजा बाहर से बंद कर जेसीबी मशीन को मास्टर चाबी से चालू कर गोरा कन्हारी होते हुए बीच जंगल से बजाग बैरियर को बचाते हुए कवर्धा ले गए । जेसीबी मशीन को आरोपी वसीम खान चला रहा था । उक्त मामले में धारा 342, 379 भारतीय दंड विधान के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है।

एस आई टी में ये रहे शामिल

डिंडोरी पुलिस अधीक्षक के द्वारा गठित टीम ए एसपी जगन्नाथ मरकाम, उप पुलिस अधीक्षक महिला सुरक्षा विजय गोठरिया के मार्गदर्शन में निरीक्षक विजय पाटिल ,राजेंद्र विसेन, उपनिरीक्षक रंजीत सिंह, उमाशंकर यादव, कमलेश मरकाम सहायक उपनिरीक्षक मनमोहन चौधरी शेखर चौबे प्रधान आरक्षक फूल सिंह भारत बसंत हेमंत सर्वे देवेंद्र मरावी शिवकुमार पोषण एवं साइबर सेल सह उपनिरीक्षक राहुल तिवारी और प्रधान आरक्षक मुकेश प्रधान की भूमिका सराहनीय रही।

डिंडोरी से प्रकाश मिश्रा की रिपोर्ट