लॉक डाउन: खाकी ने पेश की मानवता की मिसाल, मजदूरों को पहुंचाया घर

106

डिंडौरी। प्रकाश मिश्रा।

कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न हुई इस त्रासदी में पूरे प्रदेश में सबसे ज्यादा परेशानी उन मजदूर वर्गों की है जो रोजी रोटी कमाने के लिए अपना गांव अपना घर अपना परिवार छोड़कर दूसरे शहरों में गए हुए थे। अचानक से सामने आए इस करोना रूपी संकट में हजारों की संख्या में मजदूर अभी भी दूसरे शहरों में फंसे हुए हैं।

ताजा मामला 28 मार्च का है जहाँ लगभग 20 मजदूरों का एक जत्था जबलपुर से चलकर डिंडौरी पहुंचा। जहां एसडीओपी रवि प्रकाश कोतवाली प्रभारी सी के सिरामे यातायात प्रभारी राहुल तिवारी ने मजदूरों को खाने पीने की व्यवस्था करते हुए उन्हें उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए वाहन का इंतजाम कर रवाना किया। बड़ी संख्या में जिला मुख्यालय पहुंचे मजदूरों ने आप बीती बताते हुए कहा कि वह सभी जबलपुर में मजदूरी करने गए थे अचानक कोरोना वायरस के कारण वही फंस कर रह गए । मजदूरों ने बताया कि जहां वह काम कर रहे थे वहां काम भी बंद हो गया जिसके कारण उनके रहने और खाने की व्यवस्था भी खत्म हो गई आवागमन का कोई साधन ना होने के कारण वह पैदल ही अपने घर के लिए रवाना हो गए। जबलपुर से पैदल चलकर वे निवास पहुंचे जहां निवास थाना प्रभारी के सहयोग से उनके रुकने और खाने की व्यवस्था की गई। इसके बाद एक पिकअप वाहन के माध्यम से उन्हें डिंडौर रवाना किया गया। पुलिस प्रशासन के द्वारा मिली मदद के लिए संकट में फंसे इन मजदूरों ने सराहना करते हुए धन्यवाद दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here