दस दिन के मासूम को जंगल में फेंक गायब हुई मां, नंदिनी ने दी नवजात को नई जिंदगी

डिंडौरी। प्रकाश मिश्रा।

दुनिया में मां को भगवान से भी बड़ा ओहदा दिया जाता है किंतु कतिपय महिलाओं ने अपने कुकृत्य से इस सम्मान को शर्मसार कर दिया है । जी हां ऐसा ही एक मामला डिंडोरी जिले के करंजिया विकासखंड के अंतर्गत ग्राम खुरखुरी दादर से सामने आया है जहां लगभग 10 दिन के मासूम को एक निर्दयी मां ने मरने के लिए जंगल में फेंक दिया।

कहते हैं कि मारने वाले से बचाने वाला बड़ा होता है इसी तर्ज पर गांव की ही एक ममता मयी मां नंदिनी पड़वार की अचानक से उस बच्चे पर नजर पड़ी और उसने उसे अपने साथ अपने घर ले आई। नंदिनी ने पूरी घटना की जानकारी अपने ग्राम के सरपंच इतवारी सिंह को दी ।इतवारी सिंह ने नजदीकी पुलिस थाने में मामले की जानकारी दी जिसके बाद पुलिस मामला दर्ज कर नवजात को करंजिया स्वास्थ्य केंद्र में इलाज के लिए भेज दिया। प्राथमिक उपचार के बाद नवजात को वाहन 108 के माध्यम से जिला अस्पताल पहुंचा दिया गया जहां उसे नवजात शिशु गहन चिकित्सा इकाई में रखा गया है बता दें कि बच्चा स्वस्थ है बच्चे का वजन लगभग 3 किलो है।